© AFP & Getty
© AFP & Getty

गुवाहाटी वनडे में टीम इंडिया को ऐसे गेंदबाज ने चारों खाने चित कर दिया जो अपना दूसरा अंतरराष्ट्रीय मैच ही खेल रहा था। हम बात कर रहे हैं 27 साल के गेंदबाज जेसन बेहरनडॉर्फ की जिन्होंने 4 ओवरों में 21 रन देकर 4 विकेट झटके और टीम इंडिया को 118 रनों पर रोक दिया। गौर करने वाली बात है कि ये वही टीम इंडिया थी जिसे रोक पाना ऑस्ट्रेलिया के लिए नामुमकिन सा नजर आ रहा था, लेकिन बेहरनडॉर्फ ने आते ही कमाल कर दिया। बेहरनडॉर्फ की स्विंग और सटीक लाइन-लेंथ के आगे टीम इंडिया के बल्लेबाजों ने हथियार डाल दिए। वैसे यह पहला मौका नहीं है जब टीम इंडिया ने बाएं हाथ के तेज गेंदबाजों के आगे सरेंडर किया हो बल्कि पहले भी कई बार टीम इंडिया के बल्लेबाज बाएं हाथ के गेंदबाजों के आगे घुटने टेक चुके हैं। आइए आपको हम ऐसे ही गेंदबाजों से रूबरू कराते हैं।

1. मिचेल जॉनसन:

© Getty Images
© Getty Images

मिचेल जॉनसन ने साल 2006 में टीम इंडिया के खिलाफ अपना पहला मैच कुआलालंपुर में खेला था। वर्षाबाधित इस मैच में टीम इंडिया ने 8 ओवरों में 35 पर 5 विकेट गंवा दिए थे। इन पांच में से 4 विकेट जॉनसन ने झटके थे। जॉनसन ने 4 ओवरों में 11 रन देकर 4 विकेट झटके थे। अगर यह मैच बारिश के कारण नहीं रुकता और पूरा मैच होता तो जॉनसन और भी कई विकेट अपने नाम कर सकते थे। जॉनसन का भारत के खिलाफ ओवरऑल रिकॉर्ड भी अच्छा रहा है। उन्होंने भारत के खिलाफ 27 मैचों की 26 पारियों में 26.06 की औसत से 43 विकेट झटके हैं। साल 2006 से 2016 के बीच वह भारत के खिलाफ सबसे ज्यादा सफल रहे गेंदबाजों में पहले नंबर पर हैं।

[ये भी पढ़ें: एडम जंपा को लगा 'झटका', 5 सेकेंड के लिए हो गए सन्न]

2. लेनोबो सोत्सोबे:

© Getty Images
© Getty Images

भले ही सोत्सोबे मौजूदा समय में इंटरनेशनल क्रिकेट से बैन चल रहे हों लेकिन भारत के खिलाफ जिस तरह का उनका रिकॉर्ड रहा है वह बताता है कि बाएं हाथ के तेज गेंदबाजों का टीम इंडिया के खिलाफ कितना खौंफ रहा है। सोत्सोबे ने टीम इंडिया के खिलाफ पहला मैच फरवरी 2010 में अहमदाबाद में खेला था। इस मैच में उन्होंने 58 रन देकर 3 विकेट लिए थे। इसके एक साल बाद टीम इंडिया ने दक्षिण अफ्रीका का दौरा किया। इस दौरे में सोत्सोबे ने कहर बरपा दिया था।

उन्होंने पहले दो मैच में 4-4 विकेट लिए और टीम इंडिया की बैटिंग लाइन-अप की कमर ही तोड़ दी। वो दौर था जब भारतीय बल्लेबाजों की आंखों में सोत्सोबे का खौंफ साफतौर पर देखा जा सकता था। सोत्सोबे का भारत के खिलाफ ओवर-ऑल रिकॉर्ड भी शानदार है। सोत्सोबे ने भारत के खिलाफ 10 मैचों की 9 पारियो में 17.90 के बेहतरीन औसत के साथ 22 विकेट लिए हैं।

3. मुस्ताफिजुर रहमान:

© Getty Images
© Getty Images

साल 2015 में टीम इंडिया ने बांग्लादेश में वनडे सीरीज हारी थी। इस सीरीज में टीम इंडिया ने एकतरफा हार मुस्ताफिजुर रहमान के हाथों झेली थी। रहमान ने अपनी लेफ्ट आर्म पेस गेंदबाजी के आगे भारतीय बल्लेबाजों को नतमस्तक करने के लिए मजबूर कर दिया। उन्होंने भारत के खिलाफ अपने पहले मैच में ही 5 विकेट झटके और दूसरे मैच में 6 विकेट झटक डाले। रहमान का टीम इंडिया के खिलाफ ओवर-ऑल औसत बहुत बढ़िया है। उन्होंने 4 मैचों की 4 पारियों में भारत के खिलाफ 15.61 के जादुई औसत से 13 विकेट झटके हैं।

4. कोरे एंडरसन:

 © Getty Images
© Getty Images

न्यूजीलैंड के ऑलराउंडर कोरे एंडरसन का भारत के खिलाफ जबरदस्त गेंदबाजी औसत रहा है। उन्होंने साल 2014 में भारत के न्यूजीलैंड दौरे में शानदार गेंदबाजी की थी। इस दौरान उन्होंने 3 मैचों में 10 विकेट लिए थे। उनका भारत के खिलाफ ओवर ऑल रिकॉर्ड भी बढ़िया रहा है। उन्होंने 4 पारियों में कुल 10 विकेट झटके हैं। इस दौरान उनका गेंदबाजी औसत 20.80 का रहा है।

5. मोहम्मद आमिर:

(Photo courtesy: Getty Images)
(Photo courtesy: Getty Images)

मोहम्मद आमिर ने पिछले दो सालों में टीम इंडिया के खिलाफ 3 मैच खेले हैं जिनमें 2 वनडे और 2 टी20 शामिल हैं। इस दौरान उन्होंने गजब की गेंदबाजी की है। साल 2016 वर्ल्ड टी20 में उन्होंने 4 ओवरों में 18 रन देकर 3 विकेट झटके थे और टीम इंडिया को एक समय कंट्रोल में ले आए थे। हालांकि, बाद में कोहली ने उस दबाव को खत्म करते हुए टीम इंडिया को जीत दिलवा दी। बाद में साल 2017 चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में उन्होंने कहर बरपाया। इस मैच में उन्होंने 16 रन देकर 3 विकेट झटके और पाकिस्तान की जीत में अहम भूमिका निभाई।