5 times Steven Smith suffered due to On-field mistakes
स्टीवन स्मिथ © AFP

दुनिया के सर्वश्रेष्ठ टेस्ट बल्लेबाजों में से एक स्टीवन स्मिथ पर फिलहाल अपनी शानदार बल्लेबाजी नहीं बल्कि न्यूलैंड्स टेस्ट के दौरान गेंद से छेड़छाड़ मामले की वजह से चर्चा में हैं। आईसीसी ने स्मिथ पर गेंद से छेड़छाड़ योजना में शामिल होने के लिए एक टेस्ट मैच का बैन लगाया है। वहीं इस मामले में फंसे होने के वजह से स्मिथ को राजस्थान रॉयल्स की कप्तानी भी छोड़नी पड़ी। ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब बतौर कप्तान स्मिथ से मैदान पर गलती हुई हो, इससे पहले भी स्मिथ कई बार ऐसी गलतियां कर चुके हैं जो मैदान पर उनके शानदार प्रदर्शन पर भारी पड़ जाती है। आइए इस ऑस्ट्रेलिाई कप्तान से जुड़े पांच बड़े विवादों पर नजर डालते हैं।

ब्रेन फेड: बतौर कप्तान स्मिथ से जुड़ा सबसे बड़ा विवाद शायद यही रहा है। भारत के दौरे पर खेली गई टेस्ट सीरीज के दूसरे मैच के दौरान डीआरएस का फैसला लेने से पहले ड्रेंसिंग रूम की तरफ देखना स्मिथ को भारी पड़ गया। बैंगलौर के चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले जा रहे इस मैच के बाद स्मिथ ने मीडिया के सामने इसे ब्रेन फेड बताया था जिसके बाद उनका काफी मजाक बना। भारतीय कप्तान विराट कोहली, जो कि इस घटना के दौरान काफी नाराज दिखे थे, ने मीडिया के सामने स्मिथ को धोखेबाज तक कह दिया था।

अंपायर का विरोध: साल 2016 में न्यूजीलैंड के खिलाफ क्राइस्टचर्च में खेले जा रहे दूसरे टेस्ट के दौरान जब डीआरएस का फैसला ऑस्ट्रेलिया के पक्ष में नहीं गया था तो इससे भड़के स्मिथ ने अंपयार के खिलाफ टिप्पणी की थी। जिसके लिए स्मिथ को मैच फीस का 30 प्रतिशत जुर्माना भी देना पड़ा था। मैच के बाद अपने व्यवहार के लिए माफी मांगते हुए स्मिथ ने कहा था कि वो ऐसी गलती कभी नहीं दोहराएंगे।

जेम्स एंडरसन के खिलाफ टिप्पणी: हाल ही हुई एशेज सीरीज काफी विवादों से घिरी रही। हर मैच से पहले दोनों टीमों के खिलाड़ियों की तरफ से काफी बयानबाजी हुई। एडिलेड टेस्ट के दौरान इंग्लैंड के सीनियर तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन ने ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को ‘बुली’ कहा। जवाब में स्मिथ ने एंडरसन को क्रिकेट इतिहास का सबसे बड़ा स्लेजर कह डाला। स्मिथ के बल्लेबाजी करते समय ये विवाद इतना ज्यादा बड़ गया कि अंपायर अलीम दार को दोनों खिलाड़ियों को संभालना पड़ा।

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट को नई पहचान बनानी होगी: टिम पेन
ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट को नई पहचान बनानी होगी: टिम पेन

कगीसो रबाडा की अपील का विरोध: दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच पोर्ट एलिजाबेथ में खेले गए दूसरे टेस्ट के दौरान तेज गेंदबाज कगीसो रबाडा ने स्मिथ को कंधा मारा था, जिसके बाद रबाडा को कोड ऑफ कंडक्ट तोड़ने के चलते तीन डीमेरिट प्वाइंट दिए गए थे। चूंकि रबाडा के पास पहले से ही पांच डीमेरिट प्वाइंट थे इस वजह से उन पर दो टेस्ट मैचों का बैन लग गया। हालांकि रबाडा ने इसके खिलाफ अपील की और बाद में उन पर लगे दो टेस्ट मैचों के बैन को हटा दिया गया। स्मिथ इस बात से काफी नाराज हुए। उन्होंने कहा कि मामले की सुनवाई के दौरान उन्हें कुछ कहने का मौका नहीं मिला। स्मिथ ने कहा, “मामले से जुड़े दूसरे शख्स से कुछ भी नहीं पूछा गया।”

गेंद से छेड़छाड़ का मामला: बतौर कप्तान स्मिथ के अब तक के करियर का सबसे बड़ा विवाद यही है। इस विवाद के चलते स्मिथ की कप्तानी और करियर दोनों खतरे में पड़ गए हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया मामले में दोषी पाए जाने पर स्मिथ पर आजीवन बैन भी लगा सकता है।