Birthday Special: Venkatesh Prasad’s  epic send off to Pakistan’s Aamer Sohail
Venkatesh Prasad, Amir sohail © Screen Grab

वेंकेटेश प्रसाद ने अपने अंतरराष्‍ट्रीय करियर की शुरुआत साल 1994 में न्‍यूजीलैंड के खिलाफ क्राइस्टचर्च में खेले गए वनडे मुकाबले के साथ की। वो साल 2001 तक क्रिकेट में एक्टिव रहे। वेंकेटेश प्रसाद को सबसे शांत खिलाड़ियों में गिना जाता है, लेकिन उनके करियर में एक समय ऐसा भी आया जब वो मैदान पर उग्र नजर आए थे। वेंकेटेश प्रसाद का 49वां जन्‍मदिन हैं। उनके जन्‍मदिन पर इसी किस्‍से को आपके साथ साझा कर रहे हैं।

दक्षिण अफ्रीका ने लगातार तीन मैच जीतकर सीरीज पर किया कब्‍जा
दक्षिण अफ्रीका ने लगातार तीन मैच जीतकर सीरीज पर किया कब्‍जा

विश्‍व कप 1996 में प्रसाद ने सिखाया आमिर सोहेल को सबक

क्रिकेट में डेब्यू करने के दो साल बाद वैंकेटेश प्रसाद को साल 1996 में विश्‍व कप खेलने का मौका मिला। दूसरे क्‍वाटर फाइनल मुकाबले में भारत और पाकिस्‍तान की टीम आमने सामने थी। विश्‍व कप में भारत और पाकिस्‍तान जब भी खेलतेे हैं तो माहौल गर्म अपने आप हो जाता है। साल 1996 विश्‍व कप की मेजबानी भारत और श्रीलंका ने संयुक्‍त रूप से मिलकर की थी। भारतीय टीम की कमान मोहम्‍मद अजहरुद्दीन के हाथों में थी तो पाकिस्‍तान आमिर सोहेल के नेतृत्‍व में खेल रहा था।

सोहेल को उन्‍हीं की भाषा में दिया जवाब

वेंकेटेश प्रसाद की गेंद पर आमिर सोहेल ने शानदार चौका लगाया था। चौका लगाने के बाद वो कुछ कदम प्रसाद की ओर बढ़े और चौके की दिशा में अपना बल्‍ला दिखाते हुए बोले, “अगली गेंद पर तुझे भी वहीं मारुंगा।” सोहेल यहीं नहीं रुके। उन्‍होंने प्रसाद को गालियां भी दी। प्रसाद शांत ही रहे। अगली ही गेंद पर उन्‍होंने आमिर सोहेल को बोल्‍ड कर दिया था। अबतक शांत रहे प्रसाद का गुस्‍सा सोहेल को आउट करने के बाद दिखा। उन्‍होंने पवेलियन की ओर इशारा करते हुए आमिर सोहेल को मैदान से जाने के लिए कहा। ये मुकाबला भारत जीत गया था।