Dinesh karthik has proved himself as a captain in ipl 2018
Dinesh Karthk © AFP

कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम इस सीजन में नए कप्तान दिनेश कार्तिक के नेतृत्व में खेलने उतरी है। दो बार की चैंपियन कोलकाता को कार्तिक ने बल्लेबाजी और कप्तानी दोनों में पूर्व कप्तान गौतम गंभीर की कमी नहीं खलने दी है।

दिनेश कार्तिक ने इस सीजन में बतौर कप्तान कोलकाता नाइट राडडर्स की कमान संभाली तो जिम्मेदारी काफी गंभीर थी। पिछले कई सीजन कोलकाता को अनुभवी गौतम गंभीर के साथ खेलने की आदत हो गई थी। कार्तिक ने कप्तानी ही नहीं बल्लेबाजी में भी बेहद शानदार प्रदर्शन किया है।

अब तक के खेले 12 मुकाबलों में कोलकाता की टीम ने 6 मुकाबले जीतकर 12 अंक हासिल किए हैं। टीम के पास अब भी दो मैच बाकी हैं और वह प्लेऑफ की रेस में बनीं हुई है।

कार्तिक की बल्लेबाजी में दम

इस सीजन में अपनी टीम की तरफ से दिनेश कार्तिक ने सबसे ज्यादा रन बनाए हैं। कुल खेले गए 12 मुकाबलों में 46 की औसत से 371 रन बनाए हैं। इसमें से चार बार वह मैदान से नाबाद लौटे हैं। चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ नाबाद पारी से टीम को जीत मिली थी जबकि पंजाब के खिलाफ भी अर्धशतक जड़ अहम मुकाबले में टीम को बढ़त दिलाई।

कप्तानी में भी कार्तिक कमाल

इस सीजन में पहली बार टीम की कमान संभालने वाले कार्तिक अब तक उम्मीदों पर खरे उतरे हैं। शुभमन गिल को उपरी क्रम में बल्लेबाजी करवाना हो फिर शिवम मावी से मैच का पहला ओवर डलवाना कार्तिक प्रयोग करने में नहीं हिचके हैं। अब कप्तानी का रिकॉर्ड 50 फीसदी रहा है। 12 में से 6 मुकाबले जीत है तो इतने ही मैंच में हार मिली है।