Fast bowlers have won more Purple Cap in IPL
Andrew TYE © IANS

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की जब शुरुआत हुई थी उस समय क्रिकेट पंडितों का मानना था कि यह सिर्फ बल्‍लेबाजों का गेम है। गेंदबाजों के लिए यहां कुछ नहीं है। जानकारों का कहना था कि गेंदबाजों की अब शामत आने वाली है। लेकिन गेंदबाजों ने अपने शानदार गेंदबाजी से उन सभी को झुठला दिया। आज बल्‍लेबाजों के साथ गेंदबाज भी लगातार सफल हो रहे हैं चाहे वो स्पिनर हों या तेज गेंदबाज। आईपीएल के पिछले 10 संस्‍करणों को देखें तो स्पिनरों से ज्‍यादा तेज गेंदबाजों का बोलबाला रहा है और इस बार भी कुछ ऐसा ही रहने की उम्‍मीद है।

अश्विन की पत्नी ने फ्लडलाइट बंद होने पर किया ट्वीट,आए ऐसे कमेंट्स
अश्विन की पत्नी ने फ्लडलाइट बंद होने पर किया ट्वीट,आए ऐसे कमेंट्स

मौजूदा आईपीएल में अब तक खेले गए मुकाबलों के आधार पर सबसे अधिक विकेट लेने की लिस्‍ट में टॉप पांच में चार तेज गेंदबाज हैं। किंग्‍स इलेवन पंजाब की ओर से खेल रहे ऑस्‍ट्रेलिया के तेज गेंदबाज एंड्रयू टाई 13 मैचों में अब तक 24 विकेट झटक चुके हैं। दूसरे नंबर पर मुंबई इंडियंस के ऑलराउंडर हार्दिक पांडया है जिनके नाम 12 मैचों में 18 विकेट हैं। बैंगलोर की ओर से खेल रहे पेसर उमेश यादव 17 और मुंबई इंडियंस के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह 16 विकेट ले चुके हैं।

वर्ष 2010 को छोड़ हमेशा पेसरों के सिर सजा है पर्पल कैप

आईपीएल का यह ग्‍यारहवां एडिशन है। पिछले 10 एडिशन में नौ बार तेज गेंदबाजों ने पर्पल कैप को अपने नाम किया है जबकि वर्ष 2010 में स्पिनर प्रज्ञान ओझा के सिर यह कैप सजी थी। ओझा उस समय डेक्‍कन चार्जर्स की ओर से खेल रहे थे और उन्‍होंने 16 मैचों में सबसे अधिक 21 विकेट लिए थे। भुवनेश्‍वर कुमार (2016, 2017) और डवेन ब्रावो (2013, 2015) इस कैप को दो-दो बार अपने नाम कर चुके हैं। वर्ष 2014 में चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स के पेसर मोहित शर्मा ने सबसे अधिक 23 विकेट लिए थे जबकि 2012 में मोर्ने मोर्कल ने 25 विकेट झटके थे। आईपीएल के चौथे संस्‍करण में लसिथ मलिंगा ने 28 विकेट लेकर पर्पल कैप पर कब्‍जा किया था जबकि 2009 में आरपी सिंह और 2008 में पाकिस्‍तान के सोहैल तनवीर ने सबसे अधिक विकेट झटके थे।