First century to inning win in England that created history for india
Ajit Wadekar Getty Images

साल 1932 में भारत और इंग्लैंड के बीच इंग्लैंड की धरती पर पहला टेस्ट मैच खेला गया था। दोनों देशों के बीच टेस्ट सीरीज का सिलसिला 86 साल से बदस्तूर जारी है। इंग्लैंड में 57 टेस्ट में दोनों टीमें आमने-सामने हुई है जिसमें टीम इंडिया सिर्फ 6 मुकाबले जीत पाई है।

इंग्लैंड की सरजमीं पर टीम इंडिया ने कई रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं। पहली पहली बार भारतीय टीम और उनके खिलाड़ियों के इंग्लैंड में किए कारनामें पर एक नजर डालते हैं।

पहला टेस्ट कप्तान

भारत के लिए इंग्लैंड में टेस्ट टीम की कप्तानी करने वाले पहले खिलाड़ी थे सी के नायडू। साल 1932 में इंग्लैंड के दौरे पर गई भारतीय की कमान नायडू के हाथों में ही थी।

पहला टेस्ट शतक

भारतीय टीम की तरफ से सैयद मुश्ताक अली ने इंग्लैंड की धरती पर पहला टेस्ट शतक बनाया था। साल 1936 में इंग्लैंड दौरे पर मैनचेस्टर में खेले गए दूसरे टेस्ट की दूसरी पारी में मुश्ताक अली ने शानदार शतक जमाया था। इस मैच में 17 चौके की मदद से मुश्ताक अली ने 112 रन बनाए थे। पहले विकेट के लिए उन्होंने विजय मर्चेंट के साथ 203 रन की साझेदारी निभाई थी।

इंग्लैंड में टेस्ट जीतने वाले पहले कप्तान

अजीत वाडेकर वह पहले कप्तान थे जिन्होंने भारत को इंग्लैंड की धरती पर पहली टेस्ट जीत दिलाई थी। साल 1971 में नवाब मंसूर अली खान पतौदी के बाद कप्तानी संभालने वाले वाडेकर ने ओवल में चार विकेट से जीत दर्ज की थी।

पहली टेस्ट जीत

साल 1971 में भारत ने तीन मैचों की सीरीज को 1-0 से अपने नाम की थी। लॉड्स और मैनचेस्टर का मुकाबला ड्रॉ करने के बाद भारत ने ओवल में 4 विकेट से जीत दर्ज कर इतिहास रचा था। अजीत वाडेकर की कप्तानी वाली टीम ने पहली पारी में इंग्लैंड को 355 पर ऑल आउट करने के बाद 284 रन बनाए थे। दूसरी पारी में बीएस चंद्रशेखर ने 6 विकेट लेकर इंग्लैंड को 101 पर समेटा था। भारत ने 174 रन बनाकर जीत हासिल की थी।

सौरव गांगुली की कप्तानी में मिली पारी की जीत

भारतीय टीम को सौरव गांगुली की कप्तानी में इंग्लैंड में पहली बार पारी की जीत मिली थी। लीड्स में खेल गए तीसरे मैच में सचिन तेंदुलकर की 193 और राहुल द्रविड़ की 148 रन की पारी की बदौलत 628 रन का पहाड़ खड़ा किया। इंग्लैंड कुंबले और जहीर की गेंदबाजी के आगे पहली पारी में 273 और दूसरी में 309 रन ही बना पाई। भारत ने पारी और 46 रन से मैच जीता।