39 साल के हुए वीरेंद्र सहवाग
39 साल के हुए वीरेंद्र सहवाग

20 अक्टूबर 1978 को दिल्ली के नजफगढ़ इलाके में एक ऐसे बल्लेबाज का जन्म हुआ था जो गेंदबाजों के लिए खौफ का दूसरा नाम था। हम बात कर रहे हैं वीरेंद्र सहवाग की जो आज 39 साल के हो गए हैं। 1 अप्रैल 1999 में टीम इंडिया की नीली जर्सी पहनने वाले वीरेंद्र सहवाग ने अपने करियर में कई बड़े मुकाम छुए, उनके बल्ले से कई रिकॉर्ड बने और टूटे। 104 टेस्ट और 251 वनडे खेलने वाले सहवाग ने अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर में 38 शतक और 72 अर्धशतक लगाए। इस दौरान उन्होंने कई हैरतअंगेज कारनामें किए। आइए डालते हैं उनपर एक नजर।

1. 2 तिहरे शतक- वीरेंद्र सहवाग ने अपने टेस्ट करियर में दो तिहरे शतक लगाए। सहवाग ने मुल्तान में पाकिस्तान के खिलाफ और चेन्नई में द.अफ्रीका के खिलाफ तिहरा शतक जड़ा था। सहवाग भारत के इकलौते खिलाड़ी हैं जिन्होंने दो-दो तिहरे शतक जमाए हैं। सहवाग के नाम सबसे तेज तिहरा शतक जमाने का रिकॉर्ड है। इसके अलावा वो दुनिया के एकलौते ऐसे क्रिकेट खिलाड़ी हैं जिन्होंने टेस्ट मैचों में दो तिहरे शतक बनाने के साथ एक पारी में पाँच विकेट भी हासिल किये।

2. 219 रन का तूफान- 8 दिसंबर 2011 को वीरेंद्र सहवाग ने अपने वनडे करियर का पहला दोहरा शतक जमाया। सचिन के बाद सहवाग ने ही इस मुकाम को हासिल किया था। सहवाग ने वेस्टइंडीज के खिलाफ 149 गेंदों में 219 रनों की पारी खेली। इस दौरान उन्होंने वनडे क्रिकेट में अपने 8000 रन भी पूरे किए।

3. 60 गेंद में सैकड़ा- 11 मार्च 2009 को वीरेंद्र सहवाग ने न्यूजीलैंड के खिलाफ हैमिल्टन में सिर्फ 60 गेंद में शतक ठोका। ये भारत की तरफ से सबसे तेज वनडे शतक था। सहवाग का ये रिकॉर्ड साल 2013 में टूटा जब टीम इंडिया के मौजूदा कप्तान विराट कोहली ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिर्फ 52 गेंद में शतकीय पारी खेली।

4. दूसरा सबसे ज्यादा स्ट्राइक रेट- वनडे क्रिकेट में 200 से ज्यादा मुकाबले खेलने वाले बल्लेबाजों की बात करें तो सहवाग स्ट्राइक रेट के मामले में दूसरे नंबर पर हैं। 245 वनडे पारियों में सहवाग का स्ट्राइक रेट 104.33 रहा। पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी का 369 वनडे पारियों में 117 का स्ट्राइक रेट रहा। सहवाग भारतीय वनडे इतिहास के सबसे ज्यादा स्ट्राइक रेट रखने वाले बल्लेबाज हैं।

5. पहली गेंद पर चौका मारने में थे माहिर- वीरेंद्र सहवाग अपनी आक्रामक बल्लेबाजी के लिए माहिर थे और उनकी आक्रामकता पहली ही गेंद से शुरू हो जाती थी। सहवाग ने अपने करियर में 27 बार पहली ही गेंद पर चौका मारा। साल 2011 वर्ल्ड कप के पहले 5 मुकाबलों में सहवाग ने हर बार पहली ही गेंद पर चौके से टीम इंडिया और अपना खाता खोला।

6. 75 से कम गेंदों पर 6 शतक- वनडे में 15 शतक जड़ने वाले वीरेंद्र सहवाग ने 6 बार 75 या उससे कम गेंदों पर शतक पूरा किया। इस मामले में द.अफ्रीकी बल्लेबाज ए बी डीविलियर्स की उनसे आगे हैं। उनके नाम 75 से कम गेंदों में 9 शतक पूरा करने का वर्ल्ड रिकॉर्ड है।

7. टेस्ट में तेजी से रन बनाने में माहिर- वीरेंद्र सहवाग वनडे ही नहीं टेस्ट क्रिकेट में भी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते थे। 104 टेस्ट खेलने वाले सहवाग का स्ट्राइक रेट 82.23 रहा जो कि दुनिया में दूसरा सबसे तेज स्ट्राइक रेट है। शाहिद अफरीदी का टेस्ट स्ट्राइक रेट 86.97 था, लेकिन उन्होंने सिर्फ 27 ही टेस्ट मैच खेले थे।

8. पहले ही टेस्ट में शतक- वीरेंद्र सहवाग ने अपने पहले ही टेस्‍ट में शतक बनाने का कारनामा किया था। 1 अप्रैल 2001 में सहवाग ने द.अफ्रीका के खिलाफ ब्लोमफोंटेन में सहवाग ने 105 रनों की पारी खेली थी। हालांकि उनकी शतकीय पारी के बावजूद टीम इंडिया मैच हार गई।

9. 11 बार 150 से ज्यादा की पारी- सहवाग ने अपने टेस्ट करियर में 11 बार शतक पूरा करने के बाद 150 से ज्यादा रनों की पारी खेली, जो कि एक रिकॉर्ड है।

बिग बैश लीग में क्रिस लिन पर हुई पैसों की 'बरसात', बन गए 'नंबर-1'
बिग बैश लीग में क्रिस लिन पर हुई पैसों की 'बरसात', बन गए 'नंबर-1'

10. अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित- वीरेंद्र सहवाग को भारत सरकार ने 2002 में अर्जुन पुरस्कार देकर सम्मानित किया। इसके अलावा उन्हें 2008 में अपने शानदार प्रदर्शन के लिये “विजडन लीडिंग क्रिकेटर इन द वर्ल्ड” के सम्मान से भी नवाजा गया। सहवाग ने इस पुरस्कार को 2009 में एक बार फिर हासिल किया।