Hardik Pandya became the first Indian player to score 30-plus runs and take four or more wickets
Hardik Pandya © Getty Images

भारतीय ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या ने एक बार फिर से टीम इंडिया के लिए शानदार खेल दिखाया है। हार्दिक ने इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए तीसरे और निर्णायक टी-20 में बेहतरीन ऑलराउंड खेल दिखाया और रिकॉर्ड बुक में नाम दर्ज कराया।

इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे और आखिरी टी-20 मुकाबले में भारतीय कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला लिया। इंग्लैंड ने आतिशी शुरुआत करते हुए 9.1 ओवर में ही 100 रन जोड़ लिए थे। इस तेज शुरुआत के बाद मेजबान के बड़े स्कोर की उम्मीद लगाई जा रही थी लेकिन हार्दिक पांड्या के चार विकेट ने उनकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया।

ऐसा करने वाले हार्दिक पहले भारतीय

हार्दिक ने इस मैच में शानदार गेंदबाजी करते हुए 4 ओवर में 38 रन खर्च कर चार अहम विकेट हासिल किए। वहीं बल्लेबाजी क्रम में उपर भेजे गए इस ऑलराउंडर ने 14 गेंद पर 33 रन भी बनाए। किसी टी-20 इंटरनेशनल में तीस से ज्यादा रन और चार विकेट हासिल करने वाले पांड्या पहले भारतीय और दुनिया के सातवें खिलाड़ी हैं।

हार्दिक ने झटके चार अहम विकेट

ब्रिस्‍टल टी-20 में हार्दिक ने शानदार गेंदबाजी करते हुए भारत चार अहम सफलता दिलाई। इनमें से तीन विकेट तो लगातार दो ओवर में हासिल किए। पिछले मैच के हीरो एलेक्स हेल्स को पांड्या ने 30 रन पर कैच करवाया। इसके बाद चोट से वापसी कर रहे ऑलराउंडर बेन स्टोक्स और फिर जॉनी बेयरस्टो को भी चलता किया। कप्तान इयोन मॉर्गन का विकेट भी भारत को पांड्या ने ही दिलवाया।

इंग्लैंड के खिलाफ चला पांड्या का बल्ला

198 रन के बड़े स्कोर का पीछा करने उतरे भारत को 151 रन पर तीसरी झटका कप्तान विराट कोहली के रूप में लगा। पांड्या को सुरेश रैना और महेंद्र सिंह धोनी से पहले बल्बेबाजी करने के लिए भेजा गया। उन्होंने इस फैसले को सही साबित करते हुए 14 गेंद पर चार चौके और दो छक्के की मदद से 33 रन की पारी खेल टीम को जीत दिलाई।