India vs South Africa, 2nd T20I: Hosts’s last chance to save series
शिखर धवन © Getty Images

जोहान्सबर्ग टी20 में 28 रनों से शानदार जीत हासिल करने के बाद सेंचुरियन पहुंची भारतीय टीम की नजर टी20 सीरीज पर कब्जा करने पर रहेगी। वहीं मेजबान दक्षिण अफ्रीका के पास सीरीज बचाने का ये आखिरी मौका है। दक्षिण अफ्रीकी टीम पहले ही वनडे सीरीज में 5-1 से बुरी तरह हार चुकी है, ऐसे में दूसरा टी20 मैच जीतकर कार्यवाहक कप्तान जेपी ड्युमिनी खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाना चाहेंगे। दक्षिण अफ्रीकी टीम को अगले महीने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार टेस्ट मैचों की सीरीज भी खेलनी है।

दक्षिण अफ्रीकी जमीन पर ऐतिहासिक वनडे सीरीज जीत चुकी टीम इंडिया अगर टी20 सीरीज 3-0 से जीत जाती है तो आईसीसी टी20 टीम रैंकिंग में नंबर पर पहुंच जाएगी। लेकिन अगर ऑस्ट्रेलिया कल न्यूजीलैंड को टी20 ट्राई सीरीज के फाइनल में हरा देती है कंगारू टीम दूसरे नंबर पर ही रहेगी और टीम इंडिया तीसरे नंबर पर बनी रहेगी। पाकिस्तान फिलहाल टी20 रैंकिंग में पहले नंबर पर है।

भारतीय टीम: टीम इंडिया ने सीरीज का पहला मैच जीता है, इसलिए दूसरे मैच में प्लेइंग इलेवन में कुछ खास बदलाव होने की संभावना नहीं है। जोहान्सबर्ग टी20 में कप्तान विराट कोहली चोटिल जरूर हुए थे लेकिन उनकी चोट ज्यादा गंभीर नहीं है। कोहली दूसरे मैच में खेलने को पूरी तरह फिट हैं। अगर कोच और मैनेजमेंट ने कप्तान को आराम देने का फैसला किया तो कप्तानी का जिम्मा उप-कप्तान रोहित शर्मा को दिया जाएगा। वहीं कोहली की जगह केएल राहुल को टीम में जगह दी जा सकती है।

दोनों सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा और शिखर धवन ने भी पहले मैच में अच्छा प्रदर्शन किया था। हालांकि तीसरे नंबर पर खेलने आए सुरेश रैना की बल्लेबाजी कुछ खास नहीं थी, रैना ने 7 गेंदो पर केवल 15 रन बनाए, और लापरवाही से अपना विकेट गंवाया। मुमकिन है कि दूसरे टी20 में कोहली उन्हें चौथे नंबर पर उतारेंगे और हमेशा की तरह तीसरे नंबर पर खुद ही बल्लेबाजी करेंंगे। मध्य क्रम की बात करें तो मनीष पांडे की धीमी पारी की काफी आलोचना हुई। वैसे टीम में श्रेयस अय्यर, केएल राहुल और दिनेश कार्तिक के रूप में विकल्प मौजूद हैं लेकिन पांडे को एक और दिया जा सकता है।

भारतीय गेंदबाजी पूरी तरह मजबूत है, कुलदीप यादव चोट की वजह से पहले मैच से बाहर थे लेकिन फिर भी टीम इंडिया ने बड़ी आसानी से जीत हासिल की। हालांकि अभी तक यादव के फिट होने की कोई खबर नहीं आई है, ऐसे में टीम इंडिया समान गेंदबाजी अटैक के साथ ही उतरेगी। मुमकिन है कि अक्षर पटेल को प्लेइंग इलेवन में खेलने का मौका दिया जाय।

दक्षिण अफ्रीका टीम: दूसरी तरफ दक्षिण अफ्रीका आठ दिन के अंदर दूसरी बार करो या मरो की स्थिति में है। उसकी परेशानियां हालांकि कम नहीं हो रही हैं और अब एबी डिविलियर्स टी20 श्रृंखला से बाहर हो गये हैं। उनकी जगह पर किसी अन्य खिलाड़ी को नहीं रखा गया और जेपी डुमिनी को उपलब्ध खिलाड़ियों में से ही विकल्प तलाशना होगा। कार्यवाहक कप्तान डुमिनी का मानना है कि वांडरर्स में पावरप्ले के ओवरों में शार्ट पिच गेंदें करने सहित उनकी सारी रणनीति सही थी लेकिन उस पर अच्छी तरह से अमल करने की जरूरत है। इससे लगता है कि टीम में ज्यादा बदलाव नहीं होंगे।

पिच रिपोर्ट: यह अभी देखना बाकी है कि सेंचुरियन की पिच पर पर्याप्त उछाल मिल पाती है या नहीं। अगर ऐसा नहीं होता है तो दक्षिण अफ्रीका को अपनी रणनीति बदलनी होगी। सुपर स्पोर्ट्स पार्क पर आखिरी टी20 मैच दक्षिण अफ्रीका और श्रीलंका के बीच खेला गया था जहां दोनों टीमों की तरफ से कम रन बने थे। मेजबान टीम के लुंगी एनगिडी और इमरान ताहिर ने उस मैच में अच्छी गेंदैबाजी की थी। हालांकि दोनों ही गेंदबाजों को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले आराम दिया गया है। ऐसे में स्पिन गेंदबाजी की जिम्मेदारी तबरेज शमसी पर रहेगी।

भारत की संभावित प्लेइंग इलेवन: शिखर धवन, रोहित शर्मा, विराट कोहली (कप्तान), सुरेश रैना, मनीष पांडे, एमएस धोनी (विकेटकीपर), हार्दिक पंड्या, युजवेंद्र चहल, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, जयदेव उनादकट।

दक्षिण अफ्रीका की संभावित प्लेइंग इलेवन: रीजा हेन्ड्रिक्स, जेजे स्मट्स, जेपी ड्यूमिनी (कप्तान), फरहान बेहारदीन,  हेनरिक क्लासेन, डेविड मिलर, क्रिस मॉरिस, डेन पीटरसन, जूनियर डाला, एंडेल फेलुकवायो, तबरेज शमसी।