India vs South Africa: Virat Kohli’s 100th ODI catch, Kuldeep-Chahal’s unique feat and other stats from Centurion tie
भारतीय टीम © AFP

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज में भारतीय रिस्ट स्पिनरों का प्रदर्शन जबरदस्त रहा है। कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल ने 6 मैचों की इस वनडे सीरीज में कुल 33 विकेट झटके और इसी के साथ दोनों युवा गेंदबाजों के नाम एक और रिकॉर्ड दर्ज हो गया है। दक्षिण अफ्रीका सीरीज पर चहल और कुलदीप के लिए 33 विकेट किसी भी सीरीज में स्पिन जोड़ीदारों के लिए सर्वाधिक विकेट हैं। इससे पहले किसी भी स्पिन जोड़ी ने विदेशी या घरेलू सीरीज में इतने विकेट नहीं लिए थे।

कुलदीप यादव ने अकेले इस वनडे सीरीज के छह मैचों में कुल 17 विकेट लिए हैं। इसी के साथ कुलदीप क्रैग मैथ्यूज के साथ संयुक्त रूप से दक्षिण अफ्रीका में खेली गई बाई लैटरल वनडे सीरीज में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बन गए हैं। मैथ्यूज ने 1994 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 7 मैचों की घरेलू वनडे सीरीज में 17 विकेट लिए थे। चहल भी 16 विकेटों के साथ दूसरे नंबर पर हैं।

सेंचुरियन वनडे: शार्दुल ठाकुर ने की शानदार गेंदबाजी, 204 पर ढेर हुई दक्षिण अफ्रीका
सेंचुरियन वनडे: शार्दुल ठाकुर ने की शानदार गेंदबाजी, 204 पर ढेर हुई दक्षिण अफ्रीका

सेंचुरियन वनडे के दौरान जसप्रीत बुमराह के ओवर में इमरान ताहिर का कैच लेते ही विराट कोहली वनडे में सबसे तेज 100 कैच पूरे करने वाले भारतीय फील्डर (नॉन विकेटकीपर) बन गए हैं। कोहली ने 208 वनडे मैचों में अपने 100 कैच पूरे कर सुरेश रैना (223) का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। कोहली भारत के लिए सबसे ज्यादा कैच लेने के मामले में रैना और सौरव गांगुली के साथ चौथे नंबर पर हैं। 156 कैचों के साथ मोहम्मद अजहरूद्दीन पहले नंबर पर हैं, वहीं 140 कैच लेकर सचिन तेंदुलकर ने तीसरे नंबर पर कब्जा किया हुआ है। राहुल द्रविड़ 121 कैचों के साथ तीसरे सबसे सफल भारतीय वनडे फील्डर हैं।

दक्षिण अफ्रीका की सीरीज के तीसरे मैच में अपने 400 वनडे डिसमिसल पूरे करने वाले महेंद्र सिंह धोनी ने सेंचुरियन वनडे में हाशिम अमला का कैच लेकर बतौर विकेटकीपर अपने 600 अंतर्राष्ट्रीय कैच भी पूरे किए हैं। धोनी मार्क वाउचर और एडम गिलक्रिस्ट के बाद ऐसा करने वाले दुनिया के तीसरे विकेटकीपर हैं।