© IANS
© IANS

भले ही कप्तान के तौर पर पहले मैच में रोहित शर्मा 2 रन बनाकर आउट हो गए हों और उनकी टीम को करारी शिकस्त झेलनी पड़ी हो। लेकिन मोहाली वनडे में आते ही उन्होंने पूरा माहौल ही बदल दिया। धीमी शुरुआत करने वाले रोहित ने महज 115 गेंदों में शतक जमा दिया और जता दिया कि वह कप्तान के तौर भी शानदार बल्लेबाजी करने में सक्षम हैं। रोहित का वनडे में यह 16वां शतक है। इस शतक के साथ रोहित ने कई बड़े रिकॉर्ड अपने नाम कर लिए। कौन हैं ये रिकॉर्ड आइए नजर डालते हैं।

1. रोहित ने सहवाग को छोड़ा पीछे: रोहित शर्मा का वनडे में यह 16वां शतक है। इस तरह से उन्होंने वीरेंद्र सहवाग (15 शतक) को पीछे छोड़ दिया है। इस तरह से रोहित भारत की ओर से वनडे में शतक लगाने के मामले में चौथे नंबर पर पहुंच गए हैं। उनसे आगे सौरव गांगुली, विराट कोहली और सचिन तेंदुलकर हैं। वहीं उन्होंने एडम गिलक्रिस्ट और नाथन एस्टल की इस मामले में बराबरी कर ली है।

2. कप्तान के तौर पर दूसरे सबसे कम पारियों में पहला शतक बनाने वाले बल्लेबाज: कप्तान के तौर पर रोहित शर्मा ने अपनी दूसरी पारी में ही शतक जमा दिया। इस तरह से वह दूसरे सबसे कम पारी खेलकर कप्तान के तौर पर पहला शतक लगाने वाले भारतीय बल्लेबाज बन गए हैं। सचिन तेंदुलकर ने कप्तान के तौर पर अपने पहले ही मैच में शतक जमाया था। गौर करने वाली बात है कि विराट कोहली ने भी कप्तान के तौर पर पहले मैच में दो रन बनाए थे और दूसरे मैच में शतक जमाया था। वही रोहित शर्मा ने किया है। इस तरह से रोहित कोहली के पदचिन्हों पर चल रहे हैं।

3. इस मामले में तीसरे नंबर पर पहुंचे रोहित शर्मा: भारतीय ओपनर के रूप में रोहित शर्मा का ये 14वां शतक है। इस तरह से उन्होंने भारतीय ओपनर के रूप में सहवाग के 14 शतकों की बराबरी कर ली है। भारतीय ओपनर के तौर पर सबसे ज्यादा 45 शतक सचिन तेंदुलकर और 19 शतक सौरव गांगुली के नाम हैं। इसके अलावा रोहित शर्मा सचिन तेंदुलकर (1996 और 1998) और सौरव गांगुली (2000) के बाद पहले ओपनर हैं जिनके नाम एक साल में 6 या उससे ज्यादा शतक लगाने का रिकॉर्ड है। गौर करने वाली बात है कि रोहित का ये मौजूदा साल में छठवां शतक है और उन्होंने मौजूदा साल में वनडे में सबसे ज्यादा शतक जमाने के मामले में विराट कोहली की बराबरी कर ली है।

4. मौजूदा साल में खेले गए हर सीरीज और टूर्नामेंट में लगाया है शतक: रोहित शर्मा ने इस साल जितनी भी सीरीज और टूर्नामेंट खेले हैं उन्होंने शतक जरूर जमाया है। फिर चाहे चैंपियंस ट्रॉफी में 123* हों, श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में 124* और 104 हों, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 125 हों, न्यूजीलैंड के खिलाफ 147 हों या श्रीलंका दौरे में 108* रन की पारी हो।

5. धवन के साथ मिलकर तोड़ डाला सचिन-सहवाग का रिकॉर्ड: रोहित ने शिखर धवन के साथ पहले विकेट के लिए 115 रन जोड़े। धवन 67 गेंदों में 68 रन बनाकर आउट हुए । उन्होंने 9 चौके लगाए। दोनों ने इस शतकीय साझेदारी के साथ एक बड़ा रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है। इन दोनों के बीच यह एकसाथ ओपनिंग करते हुए 12वीं शतकीय साझेदारी है। इस तरह से दोनों ने सचिन तेंदुलकर-वीरेंद्र सहवाग के 12 शतकीय साझेदारी के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली। अब इनसे आगे सिर्फ सचिन तेंदुलकर- सौरव गांगुली की ही ओपनिंग जोड़ी है जिनके नाम 21 शतकीय साझेदारियां हैं।