रोहित शर्मा (साभार-पीटीआई)
रोहित शर्मा (साभार-पीटीआई)

टीम इंडिया के कप्तान और ओपनिंग बल्लेबाज रोहित शर्मा ने मोहाली में इतिहास रच दिया। रोहित शर्मा के बल्ले से पीसीए के मैदान पर श्रीलंका के खिलाफ दोहरा शतक निकला। ये रोहित शर्मा का वनडे में तीसरा दोहरा शतक है जो कि एक वर्ल्ड रिकॉर्ड है। रोहित शर्मा दुनिया के इकलौते बल्लेबाज हैं जिनके बल्ले से तीन बार वनडे में दोहरे शतक निकले हैं।

रोहित शर्मा ने साल 2013 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 209, श्रीलंका के खिलाफ 2014 में 264 और अब श्रीलंका के खिलाफ मोहाली में दोहरा शतक जड़ा। रोहित शर्मा ने मोहाली में महज 151 गेंद में अपना दोहरा शतक जमाया, जिसमें उन्होंने 11 छक्के जमाए। रोहित शर्मा ने दूसरे वनडे में नाबाद 208 रनों की पारी खेली। रोहित शर्मा ने अपने पहले 100 रन 115 गेंदों में बनाए लेकिन अगले 100 रन उन्होंने महज 36 गेंदों में पूरे कर लिए।

रोहित ने तोड़ डाले ये रिकॉर्ड
रोहित शर्मा वनडे के दूसरे ऐसे कप्तान हैं जिसने वनडे में दोहरा शतक लगाया है। इससे पहले वीरेंद्र सहवाग ने बतौर कप्तान इंदौर में साल 2011 में दोहरा शतक जड़ा था। अब रोहित ने ये कारनामा कर दिखाया है।

रोहित शर्मा ने तीसरी बार वनडे क्रिकेट में 180 से ज्यादा का स्कोर बनाया है जो कि सिर्फ मार्टिन गप्टिल कर सके हैं। विवियन रिचर्ड्स और सचिन तेंदुलकर ने ये कारनामा दो बार किया है। यही नहीं रोहित शर्मा भारत की ओर से बतौर कप्तान एक पारी में सबसे ज्यादा छक्के लगाने वाले खिलाड़ी बन गए हैं। रोहित ने अपनी पारी में 12 छक्के लगाए। पहले नंबर पर ए बी डीविलियर्स हैं जिन्होंने बतौर कप्तान साल 2015 में वेस्टइंडीज के खिलाफ 16 छक्के जड़े थे।

रोहित शर्मा ने दोहरा शतक लगाकर लिस्ट ए का रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिया। रोहित ने सरे के बल्लेबाज एलिस्टर ब्राउन का अपने नाम किया जो दो दोहरे शतक लगा चुके थे लेकिन रोहित ने मोहाली में दोहरा शतक लगाकर अपनी इस संख्या को 3 तक पहुंचा दिया।

छक्के लगाने के मामले में रोहित शर्मा ने युवराज सिंह, सचिन तेंदुलकर को छोड़ा पीछे
छक्के लगाने के मामले में रोहित शर्मा ने युवराज सिंह, सचिन तेंदुलकर को छोड़ा पीछे

रोहित शर्मा मोहाली में दोहरा शतक लगाने के बाद नाबाद रहे, वो दुनिया के तीसरे बल्लेबाज हैं जिसने ये कारनामा किया है। इससे पहले सचिन ने 2010 में नाबाद 200 रनों की पारी खेली थी। मार्टिन गप्टिल ने भी दोहरा शतक लगाने के बाद अपना विकेट नहीं गंवाया था।