© Getty Images (File Photo)
© Getty Images (File Photo)

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान एमएस धोनी भले ही 36 साल के हो गए हों लेकिन पुरानी शराब की तरह वह वक्त के साथ और भी बेहतरीन होते जा रहे हैं। धर्मशाला में खेले गए पहले वनडे में जहां पूरी टीम इंडिया ने अपने हथियार डाल दिए थे। वहां एमएस धोनी ने शानदार बैटिंग का मुजाहिरा पेश किया और अकेले टीम के कुल स्कोर के करीब 58 फीसदी रन बनाते हुए टीम को 100 के पार पहुंचाया। भले ही टीम इंडिया इस मैच को हार गई लेकिन धोनी की इस बेहतरीन पारी को हमेशा याद रखा जाएगा।

जैसा कि टीम इंडिया अब अपना तीसरा वनडे खेलने के लिए विशाखापत्तनम पहुंच चुकी है। ऐसे में एक बार फिर से एमएस धोनी अपनी भूमिका निभाने के लिए तैयार होंगे। धोनी के लिए ये वनडे ऐतिहासिक हो सकता है। वह इसलिए क्योंकि वह इस वनडे में 3 बड़े रिकॉर्ड्स अपने नाम कर सकते हैं।

1. सीरीज के तीसरे मैच में पूरे कर सकते हैं अपने 50 छक्के: वनडे सीरीज का तीसरा मैच अक्सर एमएस धोनी के लिए सौगात लेकर आया है। वह सीरीज के तीसरे मैच में रनों का अंबार लगा देते हैं। ये हम नहीं बल्कि उनके आंकड़े बयां कर रहे हैं। वह अबतक सीरीज के तीसरे मैच में 38 पारियों में बल्लेबाजी कर चुके हैं। इस दौरान उन्होंने 91.85 की जानदार औसत के साथ 1,837 रन बनाए हैं। वहीं उन्होंने इस दौरान छक्के भी खूब लगाए हैं। उनके नाम सीरीज के तीसरे मैच में अबतक 48 छक्के हैं। ऐसे में अगर उन्हें विशाखापत्तनम वनडे में बल्लेबाजी करने का मौका मिलता है तो वह अपने 50 छक्के जरूर पूरे करना चाहेंगे।

2. छठवीं बैटिंग पोजीशन पर पूरे कर सकते हैं अपने 4,000 रन: एमएस धोनी ने अपने पूरे वनडे करियर में छठवें नंबर पर सबसे ज्यादा बल्लेबाजी की है। इस दौरान उन्होंने 121 मैचों की 121 पारियों में 47.79 की औसत से 3,931 रन बनाए हैं। इस तरह से उन्हें इस पोजीशन पर अपने 4,000 रन पूरे करने के लिए 69 रन और बनाने हैं। जाहिर है कि धोनी की नजर इस रिकॉर्ड पर जरूर होगी।

रविंद्र जडेजा ने लगाए 6 गेंदों में 6 छक्के, कर ली युवराज सिंह की बराबरी
रविंद्र जडेजा ने लगाए 6 गेंदों में 6 छक्के, कर ली युवराज सिंह की बराबरी

3. एशिया में पूरे कर सकते हैं अपने 7,000 रन: एमएस धोनी के नाम एशिया में 196 मैचों की 176 पारियों में 6,891 रन दर्ज हैं। इस तरह से उन्हें एशिया महाद्वीप में अपने 7,000 रन पूरे करने के लिए 109 रनों की दरकार है। अगर वह यह कारनामा कर लेते हैं तो वह वनडे में अपने 10,000 रन पूरे कर लेंगे। उनके नाम अभी 311 वनडे की 268 पारियों में 9,898 रन हैं। इस तरह से उन्हें 102 रनों की दरकार है।