India vs Sri Lanka, 3rd ODI: MS Dhoni set to become 2nd wicket-keeper batsman to go past 10,000 runs after Kumar Sangakkara
महेंद्र सिंह धोनी वनडे में 9,898 रन बना चुके हैं © Getty Images

हर क्रिकेटर का किसी ना किसी मैदान से एक खास लगाव होता है, जैसे कि रोहित शर्मा और कोलकाता का ईडन गार्डन। सभी क्रिकेट फैंस जानते हैं कि रोहित ने इस मैदान पर कई यादगार पारियां खेली हैं और जब भी वो यहां आते हैं तो उनसे एक बड़ी पारी की उम्मीद की जाती है। कुछ ऐसा ही रिश्ता महेंद्र सिंह धोनी और विशाखापत्तनम के डॉक्टर वाई एस राजशेखर रेड्डी स्टेडियम के बीच है। कल श्रीलंका के खिलाफ तीसरा और निर्णायक वनडे खेलने के लिए धोनी इस मैदान पर करीबन एक साल के बाद वापसी करेंगे। इस मैच में धोनी के पास इस मैदान पर एक बड़ा कीर्तिमान हासिल करने का सुनहरा मौका है। अब तक 311 वनडे मैचों में 9,898 रन बना चुके माही 10,000 के आंकड़े से केवल 102 रन दूर हैं। वाइजैग वनडे में शतकीय पारी खेलकर धोनी श्रीलंका के कुमार संगाकारा के बाद वनडे में 10,000 रन बनाने वाले दुनिया के दूसरे विकेटकीपर बल्लेबाज बन जाएंगे।

मोहाली वनडे में धोनी इस कीर्तिमान से 109 रन दूर थे लेकिन इस मैच में वो केवल 7 रन बनाकर आउट हो गए। शायद धोनी के करियर का इतना बड़ा मुकाम विशाखापत्तनम के मैदान पर पूरा होना पहले से तय है। इसकी एक नहीं बल्कि कई वजह हैं, वाइजैग का एसीए-वीडीसीए स्टेडियम ही वो मैदान है जहां धोनी ने अपने वनडे करियर का पहला शतक लगाया था। वाइजैग आने से पहले खेली चार वनडे पारियों में धोनी केवल 22 रन बना पाए थे। इसी मैदान पर दर्शकों को पहली बार धोनी में एक विस्फोटक बल्लेबाज नजर आया था। साल 2005 में पाकिस्तान के भारत दौरे पर खेले गए दूसरे वनडे मैच में भारतीय पारी लड़खड़ा रही थी, ऐसे में धोनी ने टीम को मुश्किल से बाहर निकाला था।

दक्षिण अफ्रीका को हरा सकती है टीम इंडिया: लालचंद राजपूत
दक्षिण अफ्रीका को हरा सकती है टीम इंडिया: लालचंद राजपूत

पहले बल्लेबाजी करते हुए केवल 26 के स्कोर पर टीम इंडिया ने अपने सबसे अहम बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर का विकेट खो दिया था। इसके बाद कप्तान सौरव गांगुली ने 24 साल के धोनी को तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने के लिए भेजा। धोनी ने इस मौके का फायदा उठाया और केवल 123 गेंदो पर 148 रन जड़ दिए। इस पारे में धोनी ने कुल 15 चौके और 4 छक्के लगाए। धोनी की इस धमाकेदार पारी की बदौलत एक समय पर बिखर रही टीम इंडिया 356 के बड़े स्कोर तक पहुंच सकी। इस पारी के बाद से धोनी ने कभी पीछे पलड़कर नहीं देखा, वह लगातार रन बनाते रहे और वनडे में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फिनिशर बन गए। धोनी ने वाइजैग में खेले 5 मैचों में 80 की औसत से कुल 240 रन बनाए हैं। इस मैदान पर उनका स्ट्राइक रेट 107.62 का है।

इस बात में कोई शक नहीं है कि ये मैदान धोनी के लिए लकी है। मुमकिन है कल श्रीलंका के खिलाफ निर्णायक वनडे मैच में धोनी एक और यादगार पारी खेलें और 10,000 का आंकड़ा पार कर इतिहास रच दें।