Indian cricketers who became a victim of YO-YO Test

मौजूदा भारतीय क्रिकेट टीम में फिटनेस के पैमाने कहीं ज्यादा ऊंचे स्तर के हो गए हैं। विराट कोहली, हार्दिक पांड्या और केएल राहुल जैसे युवा खिलाड़ियों के साथ महेंद्र सिंह धोनी भी टीम इंडिया के नए फिटनेस पैमाने पर खरे उतरे हैं। वहीं कई खिलाड़ी ऐसे हैं जो अच्छे फॉर्म के बावजूद फिटनेस टेस्ट ना करने पाने की वजह से टीम इंडिया से बाहर बैठे हैं। बीसीसीआई के नए फिटनेस रूटीन में यो-यो टेस्ट सबसे ज्यादा चर्चा में रहा है। पिछले एक साल में कई खिलाड़ी यो-यो का शिकार बने हैं।

आज होगी रोहित शर्मा की असली अग्निपरीक्षा
आज होगी रोहित शर्मा की असली अग्निपरीक्षा

युवराज सिंह-सुरैश रैना: भारतीय टीम के मध्य क्रम के प्रमुख बल्लेबाज रैना और युवराज यो-यो टेस्ट में फेल होने वाले शायद पहले भारतीय खिलाड़ी थे। जब बीसीसीआई ने इस टेस्ट को फिटनेस पैमाने में शामिल किया था उसके तुरंत बाद ये दोनों खिलाड़ी टीम से बाहर हो गए थे और बाद में ये खबर सामने आई थी कि इसके पीछे यो-यो टेस्ट का हाथ हैं। कड़ी मेहनत के बाद आखिरकार दोनों सीनियर खिलाड़ियों ने इस टेस्ट को पास किया। जिसके बाद दक्षिण अफ्रीका दौरे पर रैना को तो टीम इंडिया में जगह मिल गई लेकिन युवराज अब भी टीम इंडिया में कमबैक करने का इंतजार कर रहे हैं।

संजू सैमसन: कर्नाटक के युवा विकेटकीपर बल्लेबाज संजू सैमसन हाल ही में बैंगलोर की नेशनल क्रिकेट अकादमी में आयोजित किए गए फिटनेस कैंप में यो-यो टेस्ट पास नहीं कर पाए। आईपीएल 11 में शानदार प्रदर्शन करने के बावजूद यो-यो टेस्ट में फेल होने की वजह से सैमसन को इंडिया ए के इंग्लैंड दौरे से बाहर कर दिया गया। उनकी जगह झारखंड के ईशान किशन को मौका दिया गया है।

अंबाती रायुडू: इंडियन प्रीमियर लीग के 11वें सीजन में धमाकेदार बल्लेबाजी करने वाले चेन्नई सुपरकिंग्स के अंबाती रायुडू भी यो-यो टेस्ट की बली चढ़ गए। रायुडू ने विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी के बाद 15 जून को ही टेस्ट दिया था और पास ना होने पर उन्हें इंग्लैंड दौरे पर जाने वाली टीम से बाहर कर दिया गया। रायुडू की खराब किस्मत रैना के लिए लकी साबित हुई और उन्हें इंग्लैंड का टिकट मिल गया।

मोहम्मद शमी: पिछले कुछ समय से पत्नी के साथ विवाद की वजह से चर्चा में रहे तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी भी अफगानिस्तान के खिलाफ ऐतिहासिक टेस्ट से पहले यो-यो टेस्ट में फेल हो गए थे। शमी की जगह हरियाणा के नवदीप सैनी को भारतीय टेस्ट टीम में जगह दी गई थी, हालांकि सैनी को डेब्यू करने का मौका नहीं मिला था।

वाशिंगटन सुंदर: श्रीलंका में खेली गई निदाहास ट्रॉफी में मैन ऑफ द टूर्नामेंट रहे वाशिंगटन सुंदर भी यो-यो टेस्ट में फेल हो चुके हैं। अक्टूबर 2017 में टी20 सीरीज के लिए न्यूजीलैंड जाने वाली भारतीय टीम के चयन से पहले सुंदर यो-यो टेस्ट पास नहीं कर पाए थे और उन्हें चयनप्रक्रिया से बाहर कर दिया गया था।