India’s winning streak in ODI bilateral series ends
Joe Root and Virat Kohli © Getty Images

भारतीय क्रिकेट टीम लगातार 10 द्विपक्षीय सीरीज जीतने का रिकॉर्ड बनाने में नाकाम रही। नौ लगातार वनडे सीरीज जीतकर इंग्लैंड के खिलाफ उतरी टीम को आखिरी वनडे में हार का सामना करना पड़ा।

पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी वनडे क्रिकेट से लेंगे संन्यास ?
पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी वनडे क्रिकेट से लेंगे संन्यास ?

भारतीय टीम को लॉड्स में खेले गए दूसरे वनडे में मिला 86 रन की हार के बाद मेजबान ने वापसी का मौका नहीं दिया। तीसरे और आखिरी वनडे में बड़ी आसानी से इंग्लैंड ने भारत से मिले 256 रन की पीछा किया। दो विकेट गंवाने के बाद जो रूट और कप्तान इयोन मॉर्गन ने टीम तो जीत के दरवाजे तक पहुंचाया और सीरीज अपने नाम कर ली।

भारत को नौ जीत का कारवां थमा

भारतीय टीम ने वनडे द्विपक्षीय सीरीज में लगातार नौ जीत दर्ज की थी। टीम इंडिया इंग्लैंड को मात देकर 10वीं वनडे सीरीज जीतने का सपना लेकर आई थी। टीम इंडिया ने साल 2016 में जिम्बाब्वे के खिलाफ जून 2016 में द्विपक्षीय सीरीज जीत का सिलसिला शुरू किया था वो इंग्लैंड में आकर थम गया।

कोहली की कप्तानी में पहली सीरीज हार

वनडे टीम की फुल टाइम कप्तानी का जिम्मा संभालने के बाद से विराट कोहली की यह पहली वनडे सीरीज हार हार है। इससे पहले कोहली ने बतौर कप्तान अपनी सारी वनडे सीरीज में जीत हासिल की थी। आखिरी बार जनवरी 2016 में टीम को ऑस्ट्रेलिया दौरे पर 1-4 की हार मिली थी।

भारत ने कोहली की कप्तानी में लगातार कई बड़ी टीमों को हराया। 2017 में भारत और इंग्लैंड खेली गई सीरीज में कोहली को नियमित कप्तान बनाया गया। कोहली को कप्तानी मिलने के बाद टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, इंग्लैंड और श्रीलंका को घर पर जबकि दक्षिण अफ्रीका, श्रीलंका, वेस्टइंडीज और जिम्बाब्वे को विदेश में जाकर हराया।

दक्षिण अफ्रीकी दौरे पर रचा था इतिहास

भारतीय टीम ने कोहली की कप्तानी में दक्षिण अफ्रीका दौरे पर पहली बार वनडे सीरीज में जीत दर्ज करने में कामयाबी हासिल की थी। टीम इंडिया ने 6 मैचों की वनडे सीरीज को 5-1 से अपने नाम की थी।