गौतम गंभीर © AFP
गौतम गंभीर © AFP

गौतम गंभीर भले ही दिल्ली से ताल्लुक रखते हों, लेकिन आईपीएल में अब उनकी पहचान कोलकाता के दादा के तौर पर बन गई है। जब से गंभीर ने शाहरुख खान की टीम कोलकाता नाइट राइडर्स की कमान संभाली है तब से ही वो बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे हैं। फिर चाहे वो कप्तानी हो या फिर बल्लेबाजी। इस आईपीएल में भी गंभीर ने बल्ले और अपनी चाणक्य नीति से अपना जलवा दिखाया है। आईपीएल-10 में गंभीर कई बड़े रिकॉर्ड अपने नाम कर सकते हैं। आइए जानते हैं उन रिकॉर्ड के बारे में जिनपर गंभीर अपना नाम लिखवा सकते हैं। ये भी पढ़ें: जीत के बाद गंभीर का बड़ा खुलासा, कहा- दिल हैदराबाद के साथ

1. वॉर्नर को पछाड़कर हासिल कर सकते हैं ऑरेंज कैप: भले ही फिलहाल ऑरेंज कैप की रेस में डेविड वॉर्नर चल रहे हों, लेकिन इस बात की पूरी संभावना है कि गंभीर वॉर्नर को पछाड़कर टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज बन सकते हैं। वॉर्नर इस आईपीएल में अब तक 641 रन बना चुके हैं। गंभीर वॉर्नर से 155 रन पीछे हैं, अगर कोलकाता की टीम फाइनल में पहुंचती है तो गंभीर के पास वॉर्नर को पछाड़कर ऑरेंज कैप हासिल करने का मौका होगा। फाइनल में पहुंचने पर गंभीर के पास 2 मैच होंगे और इन दो मैचों में गंभीर 155 रन आसानी से बना सकते हैं।

2. तोड़ सकते हैं वॉर्नर के सबसे ज्यादा अर्धशतक लगाने के रिकॉर्ड को: गंभीर के पास वॉर्नर के एक और रिकॉर्ड को तोड़ने का मौका है। अगर गंभीर की टीम फाइनल तक का सफर तय करती है और गंभीर दोनों मुकाबलों में अर्धशतक लगाते हैं तो वो आईपीएल इतिहास में सबसे ज्यादा अर्धशतक लगाने वाले बल्लेबाज बन सकते हैं। आईपीएल इतिहास में सबसे ज्यादा अर्धशतक लगाने का रिकॉर्ड फिलहाल वॉर्नर (36) के नाम है और गंभीर उनसे सिर्फ एक अर्धशतक (35) पीछे हैं। ऐसे में गंभीर इस रिकॉर्ड पर भी अपना नाम लिखवा सकते हैं।

3. चौके जड़ने के मामले में गंभीर हैं ‘बेस्ट’: गौतम गंभीर जब अपने रंग में होते हैं तो उन्हें रोकना किसी भी गेंदबाज के बस की बात नहीं होती। गंभीर जब एक बार चल निकलते हैं तो उनके बल्ले से चौकों की झड़ी लग जाती है। हालांकि गंभीर छक्के लगाने में भी किसी से कम नहीं हैं, लेकिन चौके लगाने में उनका कोई सानी नहीं है। चौके लगाने के मामले में गंभीर सबसे आगे हैं। आईपीएल के इतिहास में गंभीर के बल्ले से सबसे ज्यादा 481 निकले हैं। गंभीर के बाद दूसरे नंबर पर रैना हैं जिन्होंने 402 चौके लगाए हैं।

4. गंभीर के पास होगा धोनी को पछाड़ने का मौका!: गंभीर अगर इस बार अपनी टीम को आईपीएल का खिताब दिला देते हैं तो वो ऐसा मुकाम हासिल कर सकते हैं जो महेंद्र सिंह धोनी भी नहीं कर सके हैं। आईपीएल ट्रॉफी जीतने पर गंभीर धोनी और रोहित जैसे दिग्गज कप्तानों को पीछे छोड़ देंगे। अब तक धोनी के अलावा गौतम गंभीर और रोहित शर्मा ही ऐसे कप्तान हैं जिन्होंने आईपीएल ट्रॉफी एक नहीं बल्कि दो-दो बार जीती है। ऐसे में अगर गंभीर इस बार भी फाइनल में जीत दर्ज करते हैं तो उनके पास तीसरी बार ट्रॉफी जीतने का ऐतिहासिक मौका होगा और अगर वो ऐसा कर पाए तो वो धोनी और रोहित जैसे दिग्गजों को पीछे छोड़ देंगे।