© AFP
© AFP

आईपीएल के इतिहास में यह पहला मौका है जब मुंबई इंडियंस और कोलकाता नाइट राइडर्स क्वालीफाइंग मैच में एक-दूसरे से दो-दो हाथ कर रहे हैं। मुंबई ने आईपीएल में अबतक कुल पांच क्वालीफाइंग मैच खेले हैं जबकि केकेआर ने दो मैच खेले हैं इन दोनों के बीच टूर्नामेंट के इस स्टेज में पहले कभी मुकाबला नहीं हुआ है। यहां तक कि दोनों टीमों के बीच एक बार साल 2011 में एलिमेनेटर स्टेज में मुकाबला जरूर हुआ था। इस मैच में मुंबई ने केकेआर के स्कोर को 19.2 ओवरों में 148 रन बनाकर चेज कर लिया था और चार विकेट से जीत लिया था। इसके अलावा मुंबई एकमात्र टीम है जिसने केकेआर को लीग स्टेज में हराया है।

- मुंबई इंडियंस ने आईपीएल के इतिहास में पांच बार क्वालीफाइंग मैच खेला है। यह उनका छठवां मौका होगा। पांच में से उन्होंने सिर्फ दो जीते हैं और तीन हारे हैं। यह मौजूदा टूर्नामेंट का दूसरा क्वालीफाइंग मैच है और मुंबई पूर्व में इसे दो बार खेल चुकी है। पहली बार वे साल 2011 में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ खेले थे जिसमें वे 43 रनों से हारे थे। दूसरा वह साल 2013 में राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ खेले थे और 4 विकेट से जीते थे।

- इससे पहले कभी केकेआर ने आईपीएल का दूसरा क्वालीफायर नहीं खेला है। उनके पास पहला क्वालीफायर खेलने का अनुभव है। उन्होंने साल 2012 में पहला क्वालीफायर दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ खेला था और साल 2014 में किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ खेला था। उन्होंने ये दोनों मैच स्कोर का बचाव करते हुए जीते थे। दिलचस्प बात यह है कि दोनों बार उनका बचाव वाला स्कोर 160 की लाइन में रहा था। उन्होंने दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ 162 और किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ 163 रन बनाए थे। ये भी पढ़ें: जीत के बाद गंभीर का बड़ा खुलासा, कहा- दिल हैदराबाद के साथ

- मौजूदा आईपीएल सीजन में मुंबई और केकेआर ने 10-10 बार स्कोर का पीछा किया है और दोनों ने 7-7 मैच जीते हैं। स्कोर का पीछा करने में दूसरा सबसे बड़ा रिकॉर्ड राइजिंग पुणे सुपरजायंट के नाम है। जिसने स्कोर का पीछा करते हुए सात में से पांच मैच जीते हैं।

- केकेआर और मुंबई इंडियंस ने टूर्नामेंट में पहले बैटिंग करते हुए 5-5 मैच खेले हैं। तीन जीत के सात मुंबई का रिकॉर्ड बेहतर है। जबकि केकेआर ने दो मैच जीते हैं। वहीं एक बार ये भी है कि मुंबई की केकेआर के खिलाफ दोनों जीत स्कोर का पीछा करने और स्कोर बचाने, दोनों में आई हैं।

- मुंबई इंडियंस ने एम. चिन्नस्वामी स्टेडियम में पूर्व में एक प्लेऑफ मैच खेला है। जबकि केकेआर यहां दो मैच खेल चुका है। मुंबई ने इस वेन्यू पर एकमात्र प्लेऑफ मैच साल 2012 में चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ खेला था। जिसे वे 38 रनों से हार गए थे। इस वेन्यू पर केकेआर का अंतिम मैच सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ था जिसे वे 7 विकेट से हार गए थे। इसके पहले वह साल 2014 में खेले थे, जो किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ टूर्नामेंट का फाइनल था और उन्होंने उसे 3 विकेट से जीत लिया था।

- आईपीएल के इतिहास में गौतम गंभीर का मुंबई इंडियंस के खिलाफ बैटिंग एवरेज 23.16 का है। यह किसी भी विपक्षी टीम के खिलाफ गंभीर का सबसे खराब रिकॉर्ड है, कोच्चि टस्कर्स केरला को छोड़कर।

- जो भी टीम चिन्नास्वामी में सेकंड बैटिंग करती है तो उसका औसतन स्कोरिंग रेट 8.1 का है जो मौजूदा आईपीएल में पहले बैटिंग करने वाली टीमों के स्कोरिंग रेट 7.26 से ज्यादा है। कुलमिलाकर, मौजूदा सीजन में पहले बैटिंग पहले करने वाली टीमों ने तीन जीते हैं वहीं बैटिंग सेकंड करने वाली टीम ने 4 मैच जीते हैं। बैंगलोर में पहले बैटिंग करते हुए औसतन स्कोर 145 है और बैटिंग सेकंड करते हुए 162 है।

- लसिथ मलिंगा और सुनील नरेन जब भी एक-दूसरे की टीम के खिलाफ खेले हैं तो कुल विकेट उनके नाम 16-16 हैं। मलिंगा ने ये विकेट 14 पारियों में लिए हैं जबकि नरेन ने 11 पारियों में लिए हैं। नरेन का चिन्नास्वामी में बॉलिंग औसत 45.67 का है। उनका भारत के किसी वेन्यू में ये दूसरा सबसे खराब औसत है। इसके अलावा उनका चेन्नई के एम. चिन्नस्वामी में भी रिकॉर्ड खासा खराब रहा है। यहां उनका औसत 48 का रहा है। नरेन ने बैंगलोर में 16 ओवर डाले हैं लेकिन वह 137 रन देकर 3 विकेट ही ले पाए हैं।

- नरेन को आईपीएल में अपने 100 विकेट पूरे करने के लिए 5 और विकटों की दरकार है। यह कारनामा करने वाले वह 11वें गेंदबाज बन जाएंगे। वहीं मलिंगा(153) और ड्वेन ब्रावो(122) के बाद तीसरे विदेशी खिलाड़ी बन जाएंगे। नरेन एक ही फ्रेंचाइजी के लिए 100 विकेट लेने वाले भी तीसरे गेंदबाज बन जाएंगे। मलिंगा(153) और हरभजन सिंह(127) ये कारनामा मुंबई इंडियंस के लिए कर चुके हैं।

- आईपीएल इतिहास में रोहित शर्मा ने केकेआर के खिलाफ 48.86 की औसत से 684 रन बनाए हैं। इस दौरान उन्होंने 138.74 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं।

- मनीष पांडे को आईपीएल में अपने 50 कैच पूरे करने के लिए तीन और कैचों की दरकार है। वह यह कारनामा करने वाले नौंवे खिलाड़ी बन जाएंगे। वहीं एक ही फ्रेंचाइजी की ओर से खेलते हुए यह कारनामा करने वाले 5वें खिलाड़ी बन जाएंगे। एक ही फ्रेंचाइजी के लिए रैना(75 सीएसके) और विराट कोहली(60 आरसीबी), एबी डीविलयर्स(50 आरसीबी) और कायरॉन पोलार्ड(67 मुबई इंडियंस) के लिए ले चुके हैं।

- रोहित शर्मा को मुंबई की ओर से आईपीएल में 50 कैच पूरे करने के लिए 1 और कैच की दरकार है। आईपीएल में वह कुल 71 कैच ले चुके हैं।

- रोहित शर्मा को आईपीएल में मुंबई इंडियंस की ओर से 3,000 रन पूरे करने के लिए 13 रनों की और दरकार है। ये कारनामा करने वाले वह अपनी टीम की ओर से पहले बल्लेबाज बन जाएंगे। एक फ्रेंचाइजी की ओर से ये कारानामा करने वाले रोहित 5वें खिलाड़ी बन जाएंगे। उनके पहले ये कारनामा विराट कोहली(आरसीबी के लिए 3,016) , रैना (36,69 सीएसके) और क्रिस गेल(31,63 आरसीबी) कर चुके हैं।

- उमेश यादव को आईपीएल में केकेआर की ओर से अपने 50 विकेट पूरे करने के लिए 3 और विकटों की दरकार है। नरेन के बाद वह यह कारनामा करने वाले दूसरे गेंदबाज बन जाएंगे। एक फ्रेंचाइजी के लिए यह कारनामा करने वाले उमेश सातवें भारतीय तेज गेंदबाज बन जाएंगे। उनके पहले ये कारनामा सिद्धार्थ त्रिवेदी (65, राजस्थान रॉयल्स), विनय कुमार ( 72, आरसीबी), संदीप शर्मा (71, पंजाब), आरपी सिंह ( डेक्कन चार्जस के लिए 51), भुवनेश्वर कुमार (एसआरएच के लिए 87) और मोहित शर्मा (सीएसके के लिए 57) कर चुके हैं।

- हरभजन सिंह को टी20 में मुंबई इंडियंस के लिए अपने 150 विकेट पूरे करने के लिए 3 और विकटों की दरकार है। उनके नाम अभी 147 विकेट हैं- जिसमें 127 आईपीएल में और 20 विकेट चैंपियंस लीग टी20 से। यह कारनामा करने वाले वह पहले भारतीय खिलाड़ी बन जाएंगे और मलिंगा के बाद दूसरे। मलिंगा के नाम मुंबई इंडियंस की ओर से 178 विकेट हैं।

नोट: उपरोक्त लेख उपलब्ध आंकड़े क्रिकेटकंट्री के स्टेसटिसियन एवं रिपोर्टर अभिषेक कुमार ने मुहैया कराए हैं।