IPL 2018: Eight Players who help CSK to reach final
CSK © AFP

चेन्‍नई सुपर किंग्‍स की टीम को बुजुर्गो की टीम कहा जाता है। इस टीम में सबसे ज्‍यादा 30 पार कर चुके खिलाड़ी हैं, लेकिन इसके बावजूद भी इनमें भरपूर ऊर्जा है। यही वजह है कि दो साल के बैन के बाद वापसी कर रही चेन्‍नई सुपर किंग्‍स की टीम आईपीएल 2018 के फाइनल में क्‍वालिफाई करने में सफल रही। क्‍वालिफायर-1 में चेन्‍नई की टीम बुरे संकट में थी, लेकिन फॉफ डु प्‍लेसिस ने संकट मोचक बनकर महत्‍वपूर्ण अर्धशतकीय पारी खेली और अपनी टीम को दो विकेट से जीत दिलाई।

इस मैच में जरूर डु प्‍लेसिस ने टीम को जीत दिलाई हो, लेकिन चेन्‍नई की टीम में मैच विनर्स की कमी नहीं है। चेन्‍नई ने इस सीजन में अबतक 15 मुकाबले खेले हैं, पूरे टूर्नामेंट के दौरान चेन्‍नई को आठ अलग-अलग खिलाड़ियों ने जीत दिलाई। शेन वॉट्सन और अंबाती रायडू को दो-दो बार मैन ऑफ द मैच दिया गया।

 

खिलाड़ी मैन ऑफ द मैच
फॉफ डु प्‍लेसिस क्‍वालिफायर-1 में चेन्‍नई की टीम बुरे संकट में थी, लेकिन फॉफ डु प्‍लेसिस ने संकट मोचक बनकर महत्‍वपूर्ण अर्धशतकीय पारी खेली और अपनी टीम को दो विकेट से जीत दिलाई।
लुंगी एंगिडी पंजाब के खिलाफ एंगिडी ने चेन्‍नई के गेंदबाजी इतिहास का तीसरा सबसे अच्‍छा प्रदर्शन किया। चार ओवरों में 10 रन देकर चार विकेट निकाले और टीम को जीत दिलाई।
रवींद्र जडेजा चार ओवरों में 18 रन देकर निकाले बैंगलोर के तीन  विकेट। चेन्‍नई ने ये मैच छह विकेट से अपने नाम किया।
महेंद्र सिंह धोनी बैंगलोर ने दिया 206 का लक्ष्‍य। धोनी ने सात छक्‍कों की मदद से 34 गेंद पर बना दिए 70 रन और टीम को जीत दिलाई।
ड्वेन ब्रावो  ड्वेन ब्रावो सीजन के पहले मुकाबले में मुंबई ने दिया 166 का लक्ष्‍य। ब्रावो ने सात छक्‍कों की मदद से 30 गेंद पर 68 रन ठोक टीम को दिलाई जीत।
सैम बिलिंग्‍स सैम बिलिंग्‍स  कोलकाता ने दिया 202 का लक्ष्‍य। बिलिंग्‍स ने पांच छक्‍कों की मदद से 23 गेंद पर 56 रन बना टीम को दिलाई पांच विकेट से जीत।
शेन वॉट्सन 1. राजस्‍थान के खिलाफ शेन वॉट्सन ने छह छक्‍कों और नौ चौकों की मदद से 57 गेंदों पर बनाए 106 रन। मिली 64 रन से जीत।

2. दिल्‍ली के खिलाफ सात छक्‍कों और चार चौकों की मदद से 40 गेंद पर बनाए 78 रन। टीम को दिलाई 13 रन से जीत।

अंबाती रायडू 1. हैदराबाद के खिलाफ पहले मैच में खेली 37 गेंद पर 79 रनों की पारी। चेन्‍नई के 182/3 के स्‍कोर के सामने हैदराबाद 178 रन ही बना पाया।

2. हैदराबाद ने दिया 180 का लक्ष्‍य। रायडू ने सात छक्‍के और सात चौके लगाकर 62 गेंदों पर जड़ा शतक और टीम को जीत दिलाई।