IPL 2018 : Kolkata Knight Riders make highest ipl score of the season
dinesh karthik © AFP

कोलकाता नाइटराइडर्स ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल)-11 के 44वें मुकाबले में किंग्‍स इलेवन पंजाब के खिलाफ शानदार बल्‍लेबाजी कर आईपीएल के इतिहास का अपना सर्वोच्‍च स्‍कोर तो बनाया ही साथ ही उसने कई रिकॉर्ड भी तोड़ दिए। प्‍लेऑफ में जगह बनाने के लिए जदोजहद कर रही दिनेश कार्तिक की टीम की इस शानदार बल्‍लेबाजी को देख सभी हैरान रह गए।

सुरेश रैना ने दर्ज की एक खास उपलब्धि, ऐसा करने वाले पहले बल्‍लेबाज बने
सुरेश रैना ने दर्ज की एक खास उपलब्धि, ऐसा करने वाले पहले बल्‍लेबाज बने

केकेआर ने इंदौर के होलकर स्‍टेडियम में किंग्‍स इलेवन पंजाब के खिलाफ 20 ओवर में 6 विकेट पर 245 रन बनाए। इससे पहले कोलकाता का आईपीएल में किसी भी टीम के खिलाफ सबसे अधिक स्‍कोर 3 विकेट पर 222 रन का रहा है। कोलकाता ने यह स्‍कोर आईपीएल (2008) के पहले एडिशन में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ बनाया था।

शनिवार को किंग्‍स इलेवन पंजाब के खिलाफ जो कोलकाता की टीम ने स्‍कोर खड़ा की वह मौजूदा आईपीएल का सबसे बड़ा स्‍कोर है। इससे पहले आईपीएल के इस सीजन में दिल्‍ली ने सबसे अधिक 219 रन बनाए थे। यह मुकाबला कोलकाता के खिलाफ था जहां दिल्‍ली ने 55 रन से जीत दर्ज की थी।

आईपीएल इतिहास में ओवरऑल यह चौथा सबसे बड़ा स्‍कोर है। वर्ष 2013 में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने पुणे वॉरियर्स के खिलाफ 5 विकेट पर 263 रन बनाए थे जो आईपीएल इतिहास का अब तक सबसे बड़ा स्‍कोर है। यह मुकाबला बैंगलोर में खेला गया था। दूसरा सबसे बड़ा स्‍कोर जिसने बनाया है वह टीम भी आरसीबी ही है जिसने 2016 में गुजरात लायंस के खिलाफ 3 विकेट पर 248 रन का स्‍कोर खड़ा किया था।

चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स 2010 में राजस्‍थान रॉयल्‍स के खिलाफ 5 विकेट पर 246 रन बना चुकी है। इस लिस्‍ट में कोलकाता 6 विकेट पर 245 रन बनाकर चौथे नंबर पर है जबकि पांचवें नंबर पर चेन्‍नई है जिसने 2008 में किंग्‍स इलेवन पंजाब के खिलाफ उसी के घर में 5 विकेट पर 240 रन बनाए थे।

किंग्‍स इलेवन पंजाब के खिलाफ सबसे बड़ा स्‍कोर 

आईपीएल में किंग्‍स इलेवन पंजाब के खिलाफ किसी भी टीम की ओर से बनाया गया यह सबसे बड़ा स्‍कोर है। इससे पहले चेन्‍नई ने किंग्‍स इलेवन पंजाब के खिलाफ वर्ष 2008 में 5 विकेट पर 240 रन बनाए थे।

केकेआर ने बिना कोई शतक का बनाया सबसे बड़ा स्‍कोर

केकेआर ने पंजाब के खिलाफ जो 245 रन बनाए उसमें कोई शतक शामिल नहीं था। टी-20 क्रिकेट में बिना किसी शतक का यह ओवरऑल दूसरा संयुक्‍त रूप से सबसे बड़ा स्‍कोर है। इससे पहले श्रीलंका ने 2007 टी-20 वर्ल्‍ड कप में केन्‍या के खिलाफ 260 रन बनाए थे जिसमें कोई शतक शामिल नहीं था।