IPL 2018 : Will Yuvraj singh be able to bounce back or this is end of his career
Yuvraj singh © IANS

भारतीय क्रिकेट टीम के ‘सिक्सर किंग’ युवराज सिंह को उनके टी20 विश्वकप 2007 में लगाए गए छह लगातार छक्कों के लिए याद किया जाता है। युवराज टीम इंडिया के सबसे बड़े मैच विनर खिलाड़ी रहे हैं। विश्व कप 2011 में भारत चैंपियन बना और युवराज को ‘मैन ऑफ द सीरीज’ चुना गया था। इस आईपीएल युवराज सिंह का बल्ला खामोश है और आलोचक मान रहे हैं यह उनके आईपीएल करियर का अंत है।

प्रीति ने पहले मंदिर जाकर टीम की जीत के लिए मांगी मन्‍नत; फिर मैच के दौरान फैन्‍स को बांटे गिफ्ट
प्रीति ने पहले मंदिर जाकर टीम की जीत के लिए मांगी मन्‍नत; फिर मैच के दौरान फैन्‍स को बांटे गिफ्ट

जिस युवराज सिंह ने कभी एक ओवर में छह लगातार छक्के लगाकर नया इतिहास रचा था आज वह रन बनाने को तरस रहे हैं। युवराज ने इस आईपीएल सीजन में अब तक महज दो छक्के लगाए हैं। सात मैच खेलने के बाद युवी के खाते में महज 64 रन हैं और उनका औसत सिर्फ 12.80 का रहा है।

युवराज सिंह के नाम के साथ यह आंकड़े बेमानी लगते हैं। हालिया प्रदर्शन युवराज के करियर के अंत की तरफ इशारा कर रहे हैं। चलिए हम आपको बताते हैं इस आईपीएल युवराज सिंह का प्रदर्शन कैसा रहा है।

फ्लॉप साबित हो रहे हैं युवराज सिंह

दिल्ली के खिलाफ पहले मुकाबले में युवी ने 22 गेंद खेलकर 12 रन बनाए थे। इसके बाद बैंगलोर के साथ हुए मुकाबले में 4 गेंद खेलकर 4 रन बना बोल्ड हो गए। तीसरे मुकाबले में 13 गेंद खेल 20 रन बनाने में कामयाब रहे थे। दिल्ली के खिलाफ दूसरे मैच में 17 गेंद पर 14 रन की पारी खेली। मुंबई के साथ हुए मैच में सिर्फ14 रन ही बना पाए थे। इस आईपीएल में 50 या इससे ज्‍यादा गेद खेलने वाले बल्लेबाजों में युवराज का स्‍ट्राइक रेट सबसे खराब है। इस सीजन की नीलामी में युवराज को उनके बेस प्राइस दो करोड़ रुपये पर किंग्‍स इलेवन पंजाब ने खरीदा था।

Yuvraj singh © IANS
Yuvraj singh © IANS

आईपीएल में प्लॉप रहे हैं युवराज

आजतक युवराज का प्रदर्शन आईपीएल में कभी भी नाम के मुताबिक नहीं रहा है। किसी भी रन बनाने वाले बल्लेबाजों की लिस्ट में वह टॉस 10 में शामिल नहीं रहे।

साल 2017 में 34वें स्थान पर

साल 2016 में 27वें स्थान पर

साल 2015 में 30वें स्थान पर

साल 2014 में 15वें स्थान पर

साल 2013 में 36 वें स्थान पर

नीलामी में चलता रहा है युवराज सिंह का सिक्का

औसत प्रदर्शन के बाद भी आईपीएल में टीमें युवराज पर पैसा लगाती रही हैं। साल 2015 में दिल्ली की टीम ने युवराज को 16 करोड़ में खरीदा था। साल 2014 में बैंगलोर की ने 14 करोड़ की रकम खर्च कर उनको टीम में शामिल किया था। साल 2016 में हैदराबाद की टीम ने युवी को 7 करोड़ की बोली लगाकर हासिल किया था।