महेंद्र सिंह धोनी 15 जनवरी से इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में लंबे समय बाद नज़र आएगे।  © PTI
महेंद्र सिंह धोनी 15 जनवरी से इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में लंबे समय बाद नज़र आएगे। © PTI

भारत बनाम इंग्लैंड वनडे सीरीज 12 जुलाई से शुरू होने वाली है। इस सीरीज के साथ धोनी लंबे समय बाद वनडे फॉर्मट में कदम रखने वाले हैं। धोनी आखिरी बार दक्षिण अफ्रीका दौरे पर वनडे में नजर आए थे, उसके बाद उन्होंने आईपीएल टी20 लीग में चेन्नई सुपरकिंग्स को खिताबी जीत दिलाई। जिसके बाद धोनी आयरलैंड और फिर इंग्लैंड के खिलाफ टी20 सीरीज खेलते दिखे। धोनी के सामने इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में एक ऐसी चुनौती है जिसे उन्हें हर हाल में पूरा करना है। 

धोनी ने इंग्लैंड के खिलाफ आज तक एक भी शतक नहीं जड़ा है। इंग्लैंड के खिलाफ धोनी का सर्वाधिक स्कोर 96 है जो उन्होंने साल 2006 में जमशेदपुर वनडे में बनाया था। वो मैच भले ही भारत हार गया था लेकिन धोनी ने उस मैच में कमाल की बल्लेबाजी की थी। 12 अप्रैल को कीनन स्टेडियम में खेले गए इस मैच में भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया था। सात मैचों की उस सीरीज में भारत पहले से ही 4-0 से आगे था और चौथा वनडे रद्द होने के बाद इंग्लैंड वापसी की जी तोड़ कोशिश में था। पहले बल्लेबाजी करते हुए धोनी वीरेंद्र सहवाग के साथ सलामी बल्लेबाजी के लिए उतरे थे। ऐसा बहुत ही कम मौकों पर हुआ है जब धोनी ने सलामी बल्लेबाजी का भार संभाला हो लेकिन इस मैच में दिखा दिया कि ‘माही अगर ऊपर आता है तो बहुत मारता है’।

भारतीय टीम ने 79 रन पर पांच विकेट खो दिए और टीम मुश्किल स्थिति मे आ गई। ऐसे में धोनी एक छोर से टिके रहे और रन बनाते रहे। उन्होंने इस मैच में धमाकेदार बल्लेबाजी की और टीम का स्कोर 150 के पार ले गए। 38 ओवर के बाद धोनी को पीठ दर्द की शिकायत महसूस हुए लेकिन वो अपनी टीम को मुश्किल में छोड़ कर नहीं जा सकते थे इसलिए उन्होंने पीठ पर आइस बैग लगाया और बल्लेबाजी करने आए। हालांकि वो 96 रन बनाकर आउट हो गए और इंग्लैंड के खिलाफ अपना पहला शतक लगाने से चूक गए लेकिन धोनी की इस संघर्षपूर्ण पारी के कारण ही भारतीय टीम 223 रन का स्कोर बना सकी। हालांकि कप्तान एंड्रयू स्ट्रॉस के 74 रनों की मदद से इंग्लैंड ने ये मैच पांच विकेट से जीत लिया।

इस सीरीज के बाद धोनी ने भारतीय टीम की कप्तानी संभाली और उसके बाद भी वह इंग्लैंड टीम के खिलाफ शतक नहीं बना सके। बतौर कप्तान इंग्लैंड के खिलाफ धोनी का सर्वाधिक स्कोर 87 है जो उन्होंने 2011 में इंग्लैंड के भारत दौरे पर खेले गए पहले वनडे में बनाया था। अब जबकि उन पर कप्तानी का दबाव नहीं है तो धोनी के पास मौका है इस सीरीज में शतक लगाएं। 12 जुलाई जनवरी से शुरू हो रही वनडे सीरीज में सभी दर्शकों को धोनी का शतक देखने का भी इंतजार रहेगा। फैंस को एक बार फिर माही को हेलीकॉप्टर शॉट खेलते देखने का इंतजार रहेगा।