मुंबई इंडियंस बनाम कोलकाता नाइट राइडर्स © AFP
मुंबई इंडियंस बनाम कोलकाता नाइट राइडर्स © AFP

आईपीएल 2017 का क्वालीफायर दो आज मुंबई इंडियंस और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच बैंगलोर के एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेला जाएगा। इस मैच जो भी टीम जीतेगी वह सीधे फाइनल में 21 तारीख को राइजिंग पुणे सुपरजायंट से भिड़ेगी। वहीं हारने वाली टीम की घर वापसी हो जाएगी। मुंबई इंडियंस ने आईपीएल के इतिहास में पांच बार क्वालीफाइंग मैच खेले हैं। यह उनका छठवां मौका होगा। पांच में से उन्होंने सिर्फ दो जीते हैं और तीन हारे हैं। यह मौजूदा टूर्नामेंट का दूसरा क्वालीफाइंग मैच है और मुंबई पूर्व में इसे दो बार खेल चुकी है। पहली बार वे साल 2011 में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ खेले थे जिसमें वे 43 रनों से हारे थे। दूसरा वह साल 2013 में राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ खेले थे और 4 विकेट से जीते थे।

इससे पहले कभी केकेआर ने आईपीएल का दूसरा क्वालीफायर नहीं खेला है। उनके पास पहला क्वालीफायर खेलने का अनुभव है। उन्होंने साल 2012 में पहला क्वालीफायर दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ खेला था और साल 2014 में किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ खेला था। उन्होंने ये दोनों मैच स्कोर का बचाव करते हुए जीते थे। दिलचस्प बात यह है कि दोनों बार उनका बचाव वाला स्कोर 160 की लाइन में रहा था। उन्होंने दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ 162 और किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ 163 रन बनाए थे।

मुंबई इंडियंस: मुंबई इंडियंस ने इस टूर्नामेंट के 11 मैचों में से 9 में जीत दर्ज की थी लेकिन उसके बाद वह धीमे पड़ गए और अगले चार मैचों में से उन्होंने तीन गंवाए। राइजिंग पुणे सुपरजायंट के खिलाफ पहले क्वालीफायर में उन्हें अंतिम 2 ओवरों में 41 रन देन महंगा पड़ गया। ऐसे में अगर उनके गेंदबाज अपनी बिखरी हुई शक्ति को बटोरना चाहते हैं तो एम. चिन्नास्वामी से बेहतर पिच कोई नहीं हो सकती।[ये भी पढ़ें: आईपीएल10, क्वालीफायर 2, आंकड़ों का प्रिव्यू: रोहित शर्मा 13 रन बनाते ही नाम कर लेंगे ये बड़ा रिकॉर्ड]

इस मैच में इस्तेमाल की जाने वाली पिच एलिमिनेटर मैच के लिए इस्तेमाल की गई पिच से अलग नहीं होगी। बुधवार को स्पिनर्स खासे प्रभावित रहे थे वहीं तेज गेंदबाजों ने क्रॉस सीम गेंदों का खूब इस्तेमाल किया था। ऐसे में मुंबई इंडियंस को हरभजन सिंह का सहारा होगा जिन्होंने बीच के ओवरों में सात विकेट लिए हैं, मुंबई इंडियंस के गेंदबाजों में सबसे ज्यादा। ऐसे में अंतिम एकादश से कर्ण शर्मा या क्रुणाल पांड्या में से किसी एक की छु्ट्टी हो सकती है। ये दोनों ही दाहिने हाथ के बल्लेबाज से दूर गेंद को टर्न कराते हैं। अगर पिच के मिजाज से मालूम पड़ा कि अतिरिक्त बल्लेबाज की जरूरत है तो क्रुणाल को मौका मिल सकता है।

मौजूदा सीजन में रोहित शर्मा को लेग स्पिनर्स ने कुल पांच बार आउट किया है। केकेआर की टीम में दो कलाई स्पिनर्स- पीयूष चावला और कुलदीप यादव हैं जो उनकी कमियों को निशाना बना सकते हैं। मैच के एक दिन पहले संध्या के समय नेट पर अंबाती रायडू और नितीश राणा प्रेक्टिस करते नजर आए थे। हालांकि, इन दोनों में से जगह सिर्फ एक को मिलेगी। रायडू ने केकेआर के खिलाफ अंतिम लीग मैच में अर्धशतक लगाया था और तभी से उनकी टीम में जगह फिक्स हो गई थी लेकिन क्वालीफायर मैच में वह फेल रहे और शून्य पर आउट हो गए। रोहित, नितीश राणा को शामिल कर सकते हैं क्योंकि उन्होंने 12 मैचों में 333 रन बनाए हैं। मुंबई इंडियंस की ओपनिंग बल्लेबाजी का दोरामदार एक बार फिर से लेंडल सिमंस और पार्थिव पटेल के ऊपर होगा। मध्यक्रम की जिम्मेदारी नितीश राणा, रोहित शर्मा, कायरॉन पोलार्ड और हार्दिक पांड्या के ऊपर होगी। तेज गेंदबाजी में मिचेल मैकलेनिघन, बुमराह, मलिंगा अपनी भूमिका निभाएंगे। वहीं स्पिन गेंदबाजी की भूमिका क्रुणाल पांड्या और हरभजन सिंह निभाएंगे।

मुंबई इंडियंस की संभावित प्लेइंग इलेवन: लेंडल सिमंस, पार्थिव पटेल, रोहित शर्मा, नीतीश राणा/अंबाती रायडू, कायरॉन पोलार्ड, हार्दिक पांड्या, क्रुणाल पांड्या, मिचेल मैकलेनिघन, हरभजन सिंह/कर्ण शर्मा, जसप्रीत बुमराह, लसिथ मलिंगा।

कोलकाता नाइट राइडर्स: कोलकाता नाइट राइडर्स के मध्यक्रम के साथ समस्या बरकरार है। सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ उन्होंने 6 ओवर के भीतर ही तीन विकेट गंवा दिए थे। जाहिर है कि वे इस कमी को पाटना चाहेंगे। इस बड़े मैच के पहले केकेआर के लिए एक और बड़ी खबर ये है कि मनीष पांडे चोटिल होने के कारण बाहर हो गए हैं। जैसा कि चिन्नास्वामी की पिच धीमी रहेगी। ऐसे में गंभीर कुलदीप यादव को अंतिम एकादश में शामिल करना चाहेंगे। वह टीम में सूर्यकुमार यादव या ईशांक जग्गी की जगह शामिल किए जा सकते हैं। बैंगलोर में पिछले कुछ दिनों से खूब बारिश हुई है। शुक्रवार के लिए मौसम के समाचार अलग नहीं है। ऐसे में टॉस अहम साबित हो सकता है।

नाइट राइडर्स ओपनिंग गेंदबाजी सुनील नरेन से करवा सकती है। लेंडल सिमंस, पिछली बार उनकी गेंद पर आउट हुए थे। वह उनके खिलाफ 9 गेंदों में 5 रन ही बना पाए थे। पार्थिव पटेल भी ऑफस्पिनर के खिलाफ खासे असहज नजर आए हैं। उन्होंने 19 गेंदों में 17 रन बनाए हैं। इस सीजन में सिमंस और पार्थिव और सिमंस न तेज गेंदबाजों के खिलाफ 143.59 और 146.20 के स्ट्राइक रेट से बनाए हैं। मुंबई इंडियंस ने एम. चिन्नस्वामी स्टेडियम में पूर्व में एक प्लेऑफ मैच खेला है। जबकि केकेआर यहां दो मैच खेल चुका है।

मुंबई ने इस वेन्यू पर एकमात्र प्लेऑफ मैच साल 2012 में चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ खेला था। जिसे वे 38 रनों से हार गए थे। इस वेन्यू पर केकेआर का अंतिम मैच सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ था जिसे वे 7 विकेट से हार गए थे। इसके पहले वह साल 2014 में खेले थे, जो किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ टूर्नामेंट का फाइनल था और उन्होंने उसे 3 विकेट से जीत लिया था। तेज गेंदबाजी आक्रमण में जैसा कि उमेश यादव, ट्रेंट बोल्ट, और नाथन कूल्टर नाइल की तिकड़ी है ऐसे में वह सशक्त नजर आता है।

कोलकाता नाइट राइडर्स की संभावित प्लेइंग इलेवन: क्रिस लिन, सुनील नरेन, गौतम गंभीर (कप्तान), रॉबिन उथप्पा (विकेटकीपर), ईशांक जग्गी, यूसुफ पठान, सूर्यकुमार यादव, पीयूष चावला/कुलदीप यादव, नाथन कूल्टर-नाइल, ट्रेंट बोल्ट, उमेश यादव।

क्या कहते हैं आंकड़े: इन दोनों टीमों के बीच अबतक 20 मुकाबले हुए हैं जिनमें 14 मुंबई ने जीते हैं। आईपीएल इतिहास में रोहित शर्मा ने केकेआर के खिलाफ 48.86 की औसत से 684 रन बनाए हैं। इस दौरान उन्होंने 138.74 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं। उमेश यादव को आईपीएल में केकेआर की ओर से अपने 50 विकेट पूरे करने के लिए 3 और विकटों की दरकार है। नरेन के बाद वह यह कारनामा करने वाले दूसरे गेंदबाज बन जाएंगे। एक फ्रेंचाइजी के लिए यह कारनामा करने वाले उमेश सातवें भारतीय तेज गेंदबाज बन जाएंगे। उनके पहले ये कारनामा सिद्धार्थ त्रिवेदी (65, राजस्थान रॉयल्स), विनय कुमार ( 72, आरसीबी), संदीप शर्मा (71, पंजाब), आरपी सिंह ( डेक्कन चार्जस के लिए 51), भुवनेश्वर कुमार (एसआरएच के लिए 87) और मोहित शर्मा (सीएसके के लिए 57) कर चुके हैं।