On this Day: First ICC World Cup  begins  in 1975
World cup 1975 photo © Getty Images

आज तारीख है सात जून। क्रिकेट के इतिहास में इस तारीख का बहुत महत्‍व है। 43 साल पहले आज ही के दिन क्रिकेट का महाकुंभ कहे जाने वाले विश्‍वकप की शुरुआत हुई थी। इससे पहले देशों के बीच सीरीज तो हुआ करती थी, आईसीसी ने कभी कोई टूर्नामेंट आयोजित नहीं किया था। साल 1975 में पहले विश्‍वकप की शुरुआत हुई, जिसे फाइनल में ऑस्‍ट्रेलिया को हराकर वेस्‍टइंडीज ने अपने नाम किया। पहले विश्‍वकप में 50 नहीं बल्कि 60 ओवर एक पारी में फेंके जाते थे।

आज ही के दिन विश्‍व कप का पहला मुकाबला भारत और इंग्‍लैंड के बीच खेला गया, जिसमें इंग्‍लैंड ने 60 ओवरों में 334/4 रन ठोक दिए। भारत को इस मैच में हार का सामना करना पड़ा। अगले आठ साल तक ये विश्‍व कप रिकॉर्ड स्‍कोर बना रहा। इसकी बराबरी कोई नहीं कर पाया।

दक्षिण नहीं ईस्‍ट अफ्रीका ने लिया हिस्‍सा

इंग्‍लैंड में खेले गए पहले विश्‍वकप में कुल आठ टीमों ने हिस्‍सा लिया, जिसमें मेजबान इंग्‍लैंड के अलावा भारत, ऑस्‍ट्रेलिया, न्‍यूजीलैंड, पाकिस्‍तान, श्रीलंका और वेस्‍टइंडीज ने हिस्‍सा लिया। खास बात ये है कि पहले विश्‍वकप खेलने वाली टीम में दक्षिण अफ्रीका नहीं बल्कि ईस्‍ट अफ्रीका उसकी जगह पर खेला।

बांग्लादेश का 'क्लीन स्वीप' कर इतिहास रचना चाहेगी अफगानिस्तान की टीम
बांग्लादेश का 'क्लीन स्वीप' कर इतिहास रचना चाहेगी अफगानिस्तान की टीम

लगातार पांच जीत से वेस्‍टइंडीज बना चैंपियन

पहले विश्‍वकप में वेस्‍टइंडीज की टीम ग्रुप ए में थी, जहां उसका मुकाबला श्रीलंका, पाकिस्‍तान और ऑस्‍ट्रेलिया की टीम से होना था। वेस्‍टइंडीज के कप्‍तान क्लाइव लॉयड के पास टीम में सर विवियन रिचर्डस, , लांस गिब्स, जॉर्डन ग्रीनिज जैसे स्‍टार बल्‍लेबाज थे। वेस्‍टइंडीज की टीम ने ग्रुप स्‍तर के तीनों मुकाबले जीते। जिसके बाद सेमीफाइनल में न्‍यूजीलैंड को हराकर एक बार फिर फाइनल में ऑस्‍ट्रेलिया को पराजित किया।

न्यूजीलैंड के खिलाड़ी ने जड़े दो शतक

पहला विश्‍वकप भले ही वेस्‍टइंडीज ने अपने नाम किया लेकिन बहुत कम लोगों को ये मालूम होगा कि आईसीसी के इस पहले इवेंट में सबसे ज्‍यादा रन बनाने वाला खिलाड़ी वेस्‍टइंडीज से नहीं बल्कि न्‍यूजीलैंड से था। ग्लेन टर्नर ने पहले विश्‍वकप में दो शतक जड़ कर 333 रन बनाए। ईस्‍ट अफ्रीका के खिलाफ उन्‍होंने 171 रनों की नाबाद पारी खेल गेंदबाजों की खूब पिटाई की। अपना दूसरा शतक भारत के खिलाफ बनाया, जिसमें उन्‍होंने 114 रनों की नाबाद पारी खेली