On this day in 1975 World Cup Sunil Gavaskar scored 36 runs in 174 balls
sunil gavaskar © Getty Images

फटाफट क्रिकेट के आ जाने के बाद से 50 ओवर का वनडे बोरिंग और लंबा लगने लगा है। एक समय वनडे क्रिकेट 60-60 ओवर का खेला जाता था। 7 जून यानी आज के ही दिन साल 1975 में पहले वनडे विश्व कप में भारत का पहला मैच इंग्लैंड के साथ हुआ था। इसी मैच में सुनील मनोहर गावस्कर ने खेली थी वनडे क्रिकेट की सबसे सुस्त पारी।

राहुल द्रविड़ भी छूटे अजिंक्य रहाणे के इस टेस्ट रिकॉर्ड से पीछे
राहुल द्रविड़ भी छूटे अजिंक्य रहाणे के इस टेस्ट रिकॉर्ड से पीछे

विश्व के महान टेस्ट बल्लेबाजों में से एक सुनील गावस्कर की बेहतरीन पारियों को तो सभी याद करते हैं। हम एक ऐसी पारी के बारे में लिखने जा रहे हैं जिसे शायद ‘लिटिल मास्टर’ भी याद नहीं करना चाहते है। वनडे के सबसे पहले विश्व कप में भारत को अपने पहले मैच में 202 रन की बड़ी हार झेलनी पड़ी थी। गावस्कर का इसमें बड़ा हाथ था अगर ऐसा लिखे तो शायद गलत नहीं होगा।

भारत के सामने था 335 रन की लक्ष्य

इंग्लैंड की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए डेनिस अमिस के शानदार 137 रन की पारी की बदौलत 334 रन का स्कोर खड़ा किया था। उनके अलावा केत फ्लेचर ने 68 रन की पारी खेली थी।

60 ओवर तक टिकने के बाद बनाए महज 36 रन

गावस्कर भारत की तरफ से ओपनिंग करने मैदान पर उतरे थे और नाबाद लौटे थे। इस दौरान उन्होंने 174 गेंद का सामना किया और महज 36 रन बनाए। पूरी पारी के दौरान गावस्कर के बल्ले से महज 1 चौका निकला था। 60-60 ओवर के इस वनडे में भारतीय टीम ने पूरे ओवर खेलकर तीन विकेट पर सिर्फ 132 रन बनाए थे।

20 के बेहद खराब स्ट्राइक रेट से की थी बल्लेबाजी

टेस्ट क्रिकेट के दिग्गजों में शुमार सुनील गावस्कर विश्वकप 1975 के 36 रन की पारी को वनडे क्रिकेट के इतिहास की सबसे धीमी पारियों में गिना जाता है। 174 गेंद का सामना करने के बाद 36 रन बनाकर मैदान से नाबाद लौटने वाले गावस्कर ने रन रेट बढ़ाने की कोशिश ही नहीं की जबकि सामने 335 रन का विशाल लक्ष्य था। इस पारी में उनका स्ट्राइक रेट सिर्फ 20.68 का रहा।

पहले विश्व कप के पहले मुकाबले में बड़ी हार

7 जून 1975 को वनडे क्रिकेट का पहला विश्व कप खेला गया था। टूर्नामेंट के पहले ही दिन भारतीय टीम का सामना मेजबान इंग्लैंड से हुआ था। भारत को 202 रन की बड़ी हार मिली थी जो काफी दिनों तक रिकॉर्ड था।