On this Day, Viv Richards made highest 10th wicket partnership with michael holding
ViV Richards (File Photo) © Getty Images

जब भी क्रिकेट के इतिहास की बात की जाती है तो सर डॉन ब्रैडमैन और सर विवियन रिचर्ड की जिक्र हुए बिना चर्चा पूरी नहीं हो सकती है। ये दोनों वो लीजेंड हैं जिन्‍होंने क्रिकेट को नई उंचाईयों तक पहुंचा। वेस्‍टइंडीज के रिचर्ड्स और ऑस्‍ट्रेलिया के ब्रेडमैन को इंग्‍लैंड ने सर की उपाधि दी। साल 1974 में भारत के खिलाफ बैंगलोर टेस्‍ट से अपने करियर की शुरुआत करने वाले रिचर्ड्स ने 1991 तक क्रिकेट खेल। इस दौरान उन्‍होंने 121 टेस्‍ट में 50.23 की औसत से 8,540 रन बनाए। वनडे में भी रिचर्ड्स ने 187 मैच खेलकर 6,721 रन बनाए। टेस्‍ट में उनका अधिकतम स्‍कोर 291 तो वनडे में 189 रन हैं। इतना ही नहीं डोमेस्टिक क्रिकेट में वो 322 रन की पारी भी खेल चुके हैं।

रिचर्ड्स ने बिखरती पारी को संभाल दिलाई थी टीम को जीत

आज ही के दिन सर विवियन रिचर्ड्स ने माइकल होल्डिंग के साथ मिलकर वो कारनामा कर दिखाया था जिसे मौजूदा समय में भी आज के खिलाड़ी नहीं कर पाए हैं।दरअसल, साल 1984 में वेस्‍टइंडीज की टीम इंग्‍लैंड के दौरे पर थी। 31 मई को दोनों टीमों के बीच मैनचेस्टर में पहला वनडे मुकाबला खेला गया। उस वक्‍त 55 ओवरों का वनडे मैच खेला जाता था। वेस्‍टइंडीज ने पहले बल्‍लेबाजी करते हुए महज 11 रन के स्‍कोर पर ही अपने दो विकेट खो दिए। चौथे नंबर पर विवियन रिचर्ड्स मैदान पर बल्‍लेबाजी करने आए। रिचर्ड्स एक तरफ क्रीज पर टिके रहे, लेकिन दूसरे छोर पर लगातार विकेट गिरते रहे। महज 166 के स्‍कोर पर ही वेस्‍टइंडीज ने अपने नौ विकेट गंवा दिए। लगा कि पहला मैच वेस्‍टइंडीज के हाथों से गया।

करिश्‍माई आखिरी विकेट पार्टनरशिप ने जिताया मैच

विवियन रिचर्ड्स एक छोर पर लगातार तेजी से रन बना रहे थे, उन्‍हें दूसरे छोर पर बस एक खिलाड़ी के टिके रहने की जरूरत थी। 11वें नंबर पर खेलने आए माइकल होल्डिंग इस मैच में रिचर्ड्स के साझेदार बने। होल्डिंग ने 27 गेंद पर महज 12 रन बनाए, वहीं दूसरे छोर पर रिचर्ड्स तेजी से रन बनाते रहे। रिचर्ड्स ने 170 गेंदों पर 189 रनों की आतिशी पारी खेली। इस दौरान रिचर्ड्स ने पांच छक्‍के और 21 चौके लगाकर अपनी टीम के स्‍कोर को 55 ओवरों में 272/9 रनों तक पहुंचाया। लक्ष्‍य का पीछा करने उतरी इंग्‍लैंड की टीम इस मैच में 168 रन पर ही ढेर हो गई।

बनी 10वें विकेट के लिए इतिहास की सबसे बड़ी साझेदारी

रिचर्ड्स और होल्डिंग के बीच इस मैच में 10वें विकेट के लिए 106 रन की साझेदारी हुई। ये क्रिकेट के इतिहास की सबसे बड़ी साझेदारी है। साल 2009 में पाकिस्‍तान के मोहम्‍मद आमिर ने सईद अजमल के साथ मिलकर 10वें विकेट के लिए 103 रन की साझेदारी की थी। न्‍यूजीलैंड के खिलाफ खेली गई ये पारी क्रिकेट के इतिहास की दूसरी सबसे बड़ी 10वें विकेट की साझेदारी है।