Once cricket was banned in Afghanistan by the Taliban
Afghanistan test team © IANS

भारत ने शुक्रवार को अफगानिस्तान के खिलाफ खेले गए एक मात्र टेस्ट को पारी और 262 रन से जीत लिया। मुकाबला सिर्फ दो दिन तक चला और अफगानिस्तान की टीम एक दिन में ही दो बार ऑल आउट हो गई।

अफगानिस्तान से सिर्फ दो दिन में भारत ने जीता टेस्ट, बनाया नया इतिहास
अफगानिस्तान से सिर्फ दो दिन में भारत ने जीता टेस्ट, बनाया नया इतिहास

साल 1995 में अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड की स्थापना हुई थी। 2001 में अफगानिस्तान की टीम को आईसीसी का अफिलीएटेड मेंबर बनने का मौका मिला। आईसीसी ने जून 2017 में अफगानिस्तान को टेस्ट टीम का दर्जा देने का ऐलान किया। यह इस टीम के लिए बहुत बड़ा दिन था जब टीम को क्रिकेट के सबसे अहम फॉर्मेट में खेलने की अनुमति मिली।

अफगानिस्तान में क्रिकेट खेलने पर थी पाबंदी

अफगानिस्तान में तालिबान का खौफ था, वहां कई प्रांतों में लोगों को डर के साये में जीना पड़ता है। अपनी मर्जी से कुछ भी करने में उनको डर लगता था। अफगानिस्तान की एक समाचार वेवसाइट pajhwok.com की मानें तो यहां कई इलाकों में क्रिकेट खेलने पर पाबंदी थी। गजनी सिटी में तो लोग क्रिकेट, फुटबॉल बॉलीबॉल जैसे खेल नहीं खेल सकते हैं।

मुश्किलों से निकलकर आई अफगानिस्तानी टीम

अफगानिस्तान की टीम के खिलाड़ियों के टेस्ट मैच तक के सफर में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। देश में आतंकी गतिविधियों के चलते आम जनजीवन प्रभावित रहता है। अक्‍सर ही यहां आतंकवादी द्वारा हमला किए जाने की खबर सुनने को मिलती है।

राशिद खान आज देश में पॉपुलर

इंडियन प्रीमियर लीग के दौरान शानदार प्रदर्शन के बाद अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने ट्वीट कर राशिद खान की तारीफ की थी। उन्होंने साफ किया था कि राशिद उनके देश की शान हैं और वह अपने इस स्टार को किसी और को नहीं देने वाले। एक इंटरव्यू में राशिद ने भी कहा था कि शायद देश के राष्ट्रपति के बाद वह सबसे ज्यादा पॉपुलर व्यक्ति हैं।