शादाब खान गेंदबाजी करते हुए © AFP
शादाब खान गेंदबाजी करते हुए © AFP

लाहौर के गद्दाफी स्टेडियम में खेले गए दूसरे टी20 में पाकिस्तान को हार का मुंह देखना पड़ा। इस मुकाबले में वर्ल्ड इलेवन ने 7 विकेट से बड़ी जीत दर्ज की। पाकिस्तान ने पहले मुकाबले करते हुए विरोधी टीम को 175 रनों का लक्ष्य दिया था, जिसे वर्ल्ड इलेवन ने 3 विकेट खोकर 1 गेंद पहले ही हासिल कर लिया। वर्ल्ड इलेवन की जीत के हीरो ओपनर हाशिम आमला और थिसारा परेरा रहे। आमला ने नाबाद 72 और परेरा ने 47 रनों की पारी खेल अपनी टीम को सीरीज में 1-1 से बराबरी पर ला खड़ा किया। इस मैच में 6 दिलचस्प रिकॉर्ड बने। आइए डालते हैं उन पर एक नजर:

1. आमला का कमाल- वर्ल्ड इलेवन के लिए खेलते हुए हाशिम आमला ने पाकिस्तान के खिलाफ अर्धशतक लगाया। आमला दुनिया के पहले ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने दो अलग-अलग टीमों के लिए टी20 अर्धशतक लगाया है। हाशिम आमला ने द.अफ्रीका के लिए 6 अर्धशतक लगाए हैं जबकि बुधवार को उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ नाबाद 72 रनों की पारी खेली।

2. परेरा का रिकॉर्ड- थिसारा परेरा ने पाकिस्तान के खिलाफ दूसरे टी20 में अपनी तूफानी 47 रन की पारी के दौरान 5 छक्के लगाए, लेकिन उनके नाम एक भी चौका नहीं रहा। टी20 क्रिकेट में बिना चौका लगाए 5 छक्के लगाने वाले वो दूसरे बल्लेबाज हैं। इसके साथ-साथ नाबाद 47 रन थिसारा परेरा का दूसरा सबसे बड़ा टी20 स्कोर है। थिसारा परेरा के नाम टी20 में एक भी अर्धशतक नहीं है। उनका सर्वाधिक टी20 स्कोर 49 रन है जो उन्होंने 2014 में इंग्लैंड के खिलाफ बनाया था।

3. पाकिस्तान के खिलाफ दूसरा सबसे ज्यादा स्ट्राइक रेट- तिसारा परेरा ने दूसरे टी20 में 247.36 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए। टी20 क्रिकेट में ये पाकिस्तान के खिलाफ दूसरा सबसे ज्यादा स्ट्राइक रेट है। माइक हसी ने 2010 में वर्ल्ड टी20 के दौरान पाकिस्तान के खिलाफ 24 गेंद में 60 रनों की पारी खेली थी, जिसमें उनका स्ट्राइक रेट 250 रहा था।

4. दूसरा सबसे बड़ा लक्ष्य हासिल- वर्ल्ड इलेवन ने पाकिस्तान के खिलाफ 175 रनों का बड़ा लक्ष्य हासिल कर लिया। पाकिस्तान के खिलाफ टी20 में सिर्फ दूसरी बार इतना बड़ा लक्ष्य हासिल किया जा सका है। 2010 में ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान के खिलाफ 192 रन का लक्ष्य हासिल किया था। न्यूजीलैंड ने भी 2016 में पाकिस्तान के खिलाफ 169 रन का लक्ष्य हासिल किया था। इन तीनों के अलावा कोई भी टीम आजतक पाकिस्तान के खिलाफ 150 से ज्यादा रनों का लक्ष्य हासिल नहीं कर सकी है।

5. पहली बार शून्य पर आउट हुए सरफराज- पाकिस्तान के कप्तान सरफराज अहमद दूसरे टी20 में शून्य पर आउट हुए। अपने 22 टी20 मैचों के करियर में सरफराज पहली बार शून्य पर आउट हुए हैं। बतौर पाकिस्तान के कप्तान रहते हुए भी सरफराज अहमद अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पहली बार शून्य पर आउट हुए हैं।

6. बद्री ने नहीं की ओपनिंग बॉलिंग- वेस्टइंडीज के लेग स्पिनर सैमुअल बद्री दुनिया के सबसे टी20 गेंदबाजों में से एक हैं। स्पिनर होने के बावजूद वो दुनिया की हर टी20 लीग में ओपनिंग बॉलिंग करते नजर आते हैं, लेकिन पाकिस्तान के खिलाफ दूसरे टी20 में ऐसा नहीं हुआ। वर्ल्ड इलेवन के लिए खेलते हुए सैमुअल बद्री ने गेंदबाजी की शुरुआत नहीं की। बद्री के 41 टी20 मैचों के करियर में ऐसा पहली बार हुआ है कि उन्होंने ओपनिंग गेंदबाजी ना की हो।