Sam Curran and Ben Stokes expose India’s inadequacy
England test team birmingham win © Getty Images

इंग्लैंड ने शनिवार भारत को 31 रन से मात देकर पांच मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-0 की बढ़त ले ली। यह इंग्लैंड का 1000वां टेस्ट मैच था, जिसे जीतकर उसने इस ऐतिहासिक पल को यादगार बना दिया। इस जीत में कप्तान जो रूट , युवा सैम कर्रन और ऑलराउंडर बेन स्टोक्स ने अहम योगदान दिया।

पढें:- सिर्फ कोहली की ‘विराट’ पारी के लिए याद किया जाएगा बर्मिंघम टेस्ट

इंग्लैंड ने चौथी पारी में भारत के सामने 194 रनों का लक्ष्य रखा था। भारतीय बल्लेबाज इंग्लैंड के हालात और पिच से तेज गेंदबाजों को मिल रही मदद के सामने अपने पैर जमा नहीं पाए। पूरी टीम 54.2 ओवरों में 162 रनों पर ढेर होकर मैच हारने पर मजबूर हो गई।

तीन अंग्रेजों ने बिगाड़ा टीम इंडिया का खेल

भारतीय टीम के खिलाफ पहली पारी में कप्तान जो रूट ने 80 रन की बेमिसाल पारी खेली। इस पारी की बदौलत ही टीम 287 के स्कोर तक पहुंच पाई।

पढ़ें:- टीम इंडिया को 31 रनों से हराकर इंग्लैंड ने बर्मिंघम टेस्ट जीता

युवा सैम कर्रन ने पहली पारी में चार विकेट लेकर टीम इंडिया की कमर तोड़ दी। वहीं दूसरी पारी में 63 रन की पारी खेल भारत की मुश्किल बढ़ाई। अपने शानदार खेल की वजह से इंग्लैंड के यादगार 1000वें टेस्ट में सैम मैन ऑफ द मैच चुने गए।

पढ़ें:- कप्तान विराट कोहली ने कहा, इस हार से मुंह नहीं छुपा सकते हैं

इंग्लैंड के सबसे अहम खिलाड़ी बेन स्टोक्स ने दूसरी पारी में भारतीय कप्तान विराट कोहली का विकेट झटकर मेजबान के जीत को पक्का कर दिया। स्टोक्स ने दूसरी पारी में चार विकेट झटके कोहली के अलावा हार्दिक पांड्या का विकेट भी इस ऑलराउंडर ने ही झटका।