Sanjay Manjrekar unhappy with wrist spinners getting chance in Tests based on limited overs performances
Sanjay Manjarekar © IANS

इंग्लैंड के खिलाफ वनडे और टी20 सीरीज में शानदार प्रदर्शन करने वाले चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव को अगस्त में होने वाली टेस्ट सीरीज के लिए टीम इंडिया में जगह मिली है। बीसीसीआई ने हाल ही में इंग्लैंड के खिलाफ पहले तीन टेस्ट मैचों के लिए 18 सदस्यीय स्क्वाड का ऐलान किया है, जिसमें कुलदीप का नाम शामिल है। हालांकि पूर्व क्रिकेटर और कमेंटेटर संजय मांजरेकर इस फैसले से इत्तेफाक नहीं रखते हैं।

मांजरेकर ने ट्वीट किया, “सीमित फॉर्मेट में प्रदर्शन के आधार पर रिस्ट स्पिनरों को टेस्ट में तवज्जों दिए जाने के इस चलन को पसंद नहीं कर रहा हूं।” मांजरेकर के इस ट्वीट को फैंस की मिली जुली प्रतिक्रिया मिली। हालांकि मांजरेकर ने किसी खिलाड़ी का नाम नहीं लिया लेकिन फैंस का ध्यान टीम इंडिया के रिस्ट स्पिनर कुलदीप यादव की ओर ही गया।

केशव महाराज के आठ विकेट लेने से खुश है श्रीलंकाई कोच
केशव महाराज के आठ विकेट लेने से खुश है श्रीलंकाई कोच

वैसे अगर आंकड़ों पर नजर घुमाएं तो केवल 2 टेस्ट मैच खेल चुके कुलदीप को इंग्लैंड के खिलाफ अहम दौरे पर मौका देना थोड़ा अजीब लगता है लेकिन मौजूदा प्रदर्शन को ध्यान में रखें और उनके खिलाफ इंग्लिश बल्लेबाजों के खराब प्रदर्शन को देखें तो कुलदीप एक अच्छा विकल्प है।

टीम इंडिया अकेली ऐसी टीम नहीं है जिसने वनडे, टी20 के प्रदर्शन को देखकर किसी गेंदबाज को टेस्ट टीम में मौका दिया हो। श्रीलंका टीम ने भी अकिला दनंजया को भारत के खिलाफ वनडे सीरीज में उनके शानदार प्रदर्शन के बाद टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू करना का मौका दिया था। दनंजया दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ चल रही टेस्ट सीरीज का हिस्सा भी हैं। वहीं इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड भी भारत के खिलाफ वनडे सीरीज में शानदार प्रदर्शन करने के बाद आदिल राशिद को टेस्ट क्रिकेट में वापस लाने की कोशिशों में जुटा हुआ है।