South Africa registers lowest Test total since readmission in 1992
South African Test Team © Getty Images

श्रीलंका दौरे पर खेले पहले टेस्ट में मेहमान दक्षिण अफ्रीका टीम को 278 रनों से बड़ी हार का सामना करना पड़ा। गॉल अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम में खेले गए इस मैच की दोनों ही पारियों में दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजी पूरी तरह फ्लॉप रही। पहली पारी में 126 पर ऑल आउट होने के बाद दूसरी पारी में प्रोटियाज टीम ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी के बाद अपना सबसे कम स्कोर दर्ज किया।

गॉल टेस्ट: 3 दिन में दक्षिण अफ्रीका ढेर, श्रीलंका ने 278 रन की बड़ी जीत दर्ज की
गॉल टेस्ट: 3 दिन में दक्षिण अफ्रीका ढेर, श्रीलंका ने 278 रन की बड़ी जीत दर्ज की

क्यों लगा था बैन

खिलाड़ियों के चयन में नस्लीय नियमों और केवल श्वेत खिलाड़ियों वाली टीमों के साथ खेलने की वजह से आईसीसी ने 1970 में दक्षिण अफ्रीका को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से 20 साल के लिए बैन कर दिया था। 1991-92 के भारत दौरे के साथ दक्षिण अफ्रीकी टीम ने क्रिकेट में वापसी की थी। तब से आज कर खेले टेस्ट मैचों में 73 दक्षिण अफ्रीका सबसे कम स्कोर है। इसके अलावा टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में ये चौथी पारी में दक्षिण अफ्रीका का सबसे कम स्कोर है।

0/0 पर भी घोषित हुई थी दक्षिण अफ्रीका की पारी

हालांकि 1992 से 2018 के बीच साल 2000 में इंग्लैंड के खिलाफ सेंचुरियन में खेले गए टेस्ट मैच में दक्षिण अफ्रीका की दूसरी पारी 0/0 पर घोषित की गई थी। पहले दिन में दक्षिण अफ्रीका के 150/6 रन बनाने के बाद लगातार बारिश की वजह से मैच के दूसरे, तीसरे और चौथे दिन एक भी गेंद नहीं खेली जा सकी थी। पांचवे दिन बल्लेबाजी जारी रखते हुए दक्षिण अफ्रीका टीम ने 248/8 पर पारी घोषित की। इंग्लैंड के कप्तान नासिर हुसैन ने टीम की पहली पारी 0/0 पर घोषित की थी और फिर दक्षिण अफ्रीकी कप्तान हैंसी क्रोंजे ने भी अपनी टीम की दूसरी पारी 0/0 पर घोषित कर इंग्लैंड के सामने 249 रनों का लक्ष्य रखा था। नासिर हुसैन की कप्तानी में इंग्लैंड ये मैच 2 विकेट से जीत गया था।