Team India Yo-Yo test score lowest in comparison to other cricket nations
Indian Team Practice © Getty Images

भारतीय क्रिकेट टीम की तरफ से मैदान पर उतरना है तो यो-यो टेस्ट में पास करना जरूरी है। पिछले दिनों इस टेस्ट में फेल होने के कारण टीम में चयन के बाद भी कई खिलाड़ियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। मुंबई मिरर की रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड का यो-यो टेस्ट पास करने का स्कोर टॉप टीमें में सबसे कम है।

IPL की वजह से नहीं हुआ था खिलाड़ियों का 'यो-यो टेस्ट'
IPL की वजह से नहीं हुआ था खिलाड़ियों का 'यो-यो टेस्ट'

टीम इंडिया की तरफ से खेलने वाले सभी खिलाड़ी को यो-यो टेस्ट की अग्निपरीक्षा पास करनी होती है। टेस्ट में पास करने के बाद ही उस खिलाड़ी के अंतिम ग्यारह में जगह बनाने संभावना जगती है।

भारत का यो-यो मानक स्कोर टॉप टीमें में सबसे कम

भरतीय टीम में यो-यो टेस्ट पास करने का मानक स्कोर 16.1 रखा गया है। रिपोर्ट के मुताबिक 5 बार की विश्व चैंपियन ऑस्ट्रेलिया के साथ-साथ इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के लिए 19 का स्कोर तय किया गया है। साउथ अफ्रीका के लिए 18.5 तो वहीं श्रीलंका और पाकिस्तान का यो-यो टेस्ट पास करने का मानक स्कोर 17.4 है।

पाकिस्तान भी भारत से आगे

पाकिस्तान क्रिकेट टीम फिटनेस से लिहाज से भारतीय टीम से आगे नजर आ रही है। पाकिस्तान में कराए जाने वाले यो-यो टेस्ट का मानक स्कोर 17.4 रखा गया है। कोच मिकी आर्थर पाकिस्तान के यो-यो टेस्ट के 17.4 होने की पुष्टी की थी। भारतीय टीम का स्कोर 16.1 है जिसे अब कोच रवि शास्त्री 16.3 करना चाहते हैं।

क्यों कराया जाता है यो-यो टेस्ट 

सूत्रों की माने तो टीम मैनेजमेंट यो-यो टेस्ट के जरिए पता करती है कि कोई बल्लेबाज सेंचुरी लगाने के बाद तीन रन से भागने में सक्षम होगा या नहीं। गौरतलब है कि संजू सैमसन, तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी और अंबाती रायडू यो-यो टेस्ट पास करने में नाकाम रहे थे।