A tournament with ten teams is not a World Cup, says Scotland captain Preston Mommsen

आईसीसी ने पिछले कुछ सालों में असोसिएट सदस्यों को कई बड़े मौके दिए हैं। 2018 में आयरलैंड और अफगानिस्तान अपना डेब्यू टेस्ट मैच खेलने के लिए तैयार हैं। वहीं आज ही आईसीसी ने नेपाल, स्कॉटलैंड, नीदरलैंड्स और यूएई को वनडे रैंकिंग में शामिल किया है लेकिन क्या ये काफी है? हाल ही में आयोजित हुए आईसीसी विश्व कप क्वालिफायर के जरिए वेस्टइंडीज और अफगानिस्तान ने 2019 में होने वाले वनडे विश्व कप में जगह बनाई लेकिन बाकी असोसिएट सदस्यों का सपना अधूर रह गया। जिम्बाब्वे के कप्तान सिकंदर रजा ने टूर्नामेंट के खत्म होने पर एक भावुक बयान दिया है, जिसमें उन्होंने आईसीसी के केवल 8-10 देशों को विश्व कप में हिस्सा लेने देने के नियम की आलोचना की थी। टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन करने के बाद भी विश्व कप में जगह नहीं बना पाई स्कॉटलैंड के कप्तान ने 10 टीमों वाले टूर्नामेंट को विश्व कप मानने से ही इंकार कर दिया है।

ICC ODI रैंकिंग में शामिल हुई नेपाल, नीदरलैंड्स, यूएई और स्कॉटलैंड
ICC ODI रैंकिंग में शामिल हुई नेपाल, नीदरलैंड्स, यूएई और स्कॉटलैंड

शुक्रवार को आईसीसी वनडे रैंकिंग में शामिल हुई स्कॉटलैंड के कप्तान प्रेस्टन मोमसेन ने विजडन इंडिया को दिए बयान में कहा, “मैं केवल ये कल्पना कर सकता हूं कि जो लोग क्रिकेट जगत से दूर हैं वो दस टीमों के बारे में क्या सोचते होंगे। मैं इसे विश्व कप नहीं कहना चाहता क्योंकि ये विश्व कप नहीं है। ये एक तरह से चैंपियंस ट्रॉफी है। इसे समझना बेहद मुश्किल है। मुझे ये समझ नहीं आता और मुझे नहीं पता कि बड़े पदों पर बैठे लोगों को ये समझने के लिए कितना वक्त लगेगा कि वो क्या गलती कर रहे हैं।”

मोमसेन ने आगे कहा, “मैं इस बात की सराहना करता हूं कि आखिर में सब नंबर्स और पैसे पर ही आता है लेकिन उन्हें टूर्नामेंट को बढ़ाने की कोशिश करनी चाहिए और इसे खेल को बेहतर बनाने और दुनिया के सामने लाने के मौके की तरह इस्तेमाल करना चाहिए। आप क्यों ऐसा नहीं करना चाहेंगे?”