AB de Villiers announced his retirement form international cricket
AB de Villiers © IANS

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान और दिग्गज बल्लेबाज एबी डिविलियर्स ने इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया है। डिविलियर्स ने तत्काल प्रभाव से क्रिकेट छोड़ने का एलान किया है। अपने संन्यास की बात उन्होंने एक वीडियो के जरिए फैंस तक पहुंचाई।

बुधवार को 34 साल के दक्षिण अफ्रीकी पूर्व कप्तान ने संन्यास की घोषणा करते हुए कहा, मैंने तत्काल प्रभाव से सभी तरह के इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास लेने का फैसला किया है।

उन्होंने कहा, ”यह काफी मुश्किल फैसला था, मैंने इसके बारे में लंबे समय तक सोचा और इस नतीजे पर पहुंचा कि मैं ऐसे समय में संन्यास लेना पसंद करूंगा जब अच्छा खेल रहा हूं। भारत और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मिली शानदार सीरीज जीत के बाद मुझे लगता है यही सही समय होगा मेरे क्रिकेट को अलविदा कहने का।”

डिविलियर्स को मौजूदा समय के महान बल्लेबाजों में गिना जाता था। वह दक्षिण अफ्रीका के कप्तान भी रह चुके हैं। उन्होंने अपने देश के लिए 114 टेस्ट मैचों की 91 पारियों में 50.66 की औसत से 8765 रन बनाए हैं, जिसमें 22 शतक और 46 अर्धशतक शामिल हैं। टेस्ट में उनका सर्वोच्च स्कोर 278 है।  वहीं उन्होंने 228 वनडे मैच खेले हैं, जिनमें 53.50 की औसत से 9,577 रन बनाए हैं। वनडे में उनके नाम 25 शतक और 53 अर्धशतक शामिल हैं। वनडे में उनका सर्वाधिक स्कोर 176 रन है।

टी-20 में डिविलियर्स ने अपने देश के लिए 78 मैच खेले हैं और 1672 रन बनाए हैं। टी-20 में उन्होंने 26.12 की औसत से रन बनाए हैं। खेल के सबसे छोटे प्रारुप में उनके नाम 10 अर्धशतक हैं और नाबाद 79 उनका सर्वोच्च स्कोर है।

वनडे  में सबसे तेज शतक और अर्धशतक का रिकॉर्ड

मिस्टर 360 के नाम से मशहूर एबी डिविलियर्स के नाम वनडे में सबसे तेज शतक और अर्धशतक का रिकॉर्ड है। वेस्टइंडीज के खिलाफ खेलते हुए साल 2015 में उन्होंने जोहानिसबर्ग में महज 31 गेंदों पर शतक ठोका था।

शतक का रिकॉर्ड बनाने से पहले इसी पारी में उन्होंने सिर्फ 16 गेंद का सामना करते हुए 50 रन बनाए थे। इतना ही नहीं वेस्टइंडीज के खिलाफ ही उन्होंने 64 गेंद पर 150 रन की ताबड़तोड पारी भी खेली थी।

IPL 2018 में डिविलियर्स ने बैंगलोर की तरफ से बनाए सबसे ज्यादा रन

इंडियन प्रीमियर लीग में डिविलियर्स रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की तरफ से खेलते हैं। इस सीजन में उन्होंने टीम के लिए कई उपयोगी पारी खेली और 6 अर्धशतक बनाए। बैंगलोर की तरफ से वह सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे। 12 मैच में उन्होंने 480 रन बनाए।