© Getty Images
© Getty Images

ए बी डीविलियर्स (नाबाद 50) और डीन एल्गर (नाबाद 36) की सधी हुई पारियों की बदौलत दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट टीम ने भारत के खिलाफ सुपरस्पोर्ट पार्क मैदान पर जारी दूसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन सोमवार को खराब रोशनी के कारण समय से पहले खेल खत्म होने तक 118 रनों की बढ़त हासिल कर ली है। खराब रोशनी के कारण खेल रोके जाने तक मेजबान टीम ने 29 ओवरों का सामना करते हुए दो विकेट पर 90 रन बना लिए थे। डीविलियर्स और एल्गर ने तीसरे विकेट के लिए 87 रनों की साझेदारी की है। डीविलियर्स ने 78 गेंदों पर छह चौके लगाए हैं जबकि जसप्रीत बुमराह की गेंद पर स्लिप कार्डन में एक जीवनदान के बाद एल्गर 78 गेंदों पर चार चौके और एक छक्का लगा चुके हैं।

भारत की पहली पारी 307 रनों पर समेटने के बाद मेजबान टीम ने तीन रन के कुल योग पर ही एडेन मार्करम (1) और हाशिम अमला (1) के रूप में अपने दो विकेट गंवा दिए थे। अमला और मार्करम को बुमराह ने LBW आउट किया। इसके बाद, एल्गर और डीविलियर्स ने संभलकर खेलते हुए चायकाल तक स्कोर 60 पर पहुंचाया। चायकाल के बाद जब मेजबान टीम का स्कोर 68 रन था, तब बारिश ने भी खलल डाला लेकिन लगभग आधे घंटे के बाद खेल फिर से शुरू हो गया। इसके आधे घंटे के बाद खराब रोशनी के कारण खेल रोक दिया गया।

इससे पहले, कप्तान विराट कोहली (153) की बेहतरीन शतकीय पारी के दम पर भारत ने पहली पारी में 307 रन बनाए। भारत ने भोजनकाल तक दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपनी पहली पारी में आठ विकेट के नुकसान पर 287 रन बनाए थे। दूसरे सत्र में कोहली ने ईशांत शर्मा (3) के साथ मिलकर टीम का स्कोर 306 तक पहुंचाया था, लेकिन मॉर्कल ने शर्मा को मार्करम के हाथों कैच आउट करा टीम का 9वां विकेट भी गिराया।

टीम के खाते में एक ही रन जुड़ पाया था कि बड़ा शॉट मारने के चक्कर में कोहली मॉर्कल की ही गेंद पर डीविलियर्स के हाथों लपके गए। इसके साथ ही भारतीय टीम की पारी 307 रनों पर समाप्त हो गई। दक्षिण अफ्रीका के लिए मॉर्ने मॉर्कल ने चार विकेट लिए, वहीं वेर्नोन फिलेंडर, केशव महाराज, कागीसो रबाडा लुंगी एन्गिडी को एक-एक सफलता मिली।