Afghanistan’s Mohammad Shahzad can lose central contract for playing local tournament in Pakistan
मोहम्‍मद शाहजाद। (फाइल फोटो) © Getty Images

भारत के पड़ोसी देश अफगानिस्‍तान में क्रिकेट तेजी से उबर रहा है। राशिद खान जैसे खिलाड़ियों ने काफी तेजी से अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में नाम कमाया है। वो आईसीसी टी-20 रैंकिंग में नंबर एक पर हैं, वहीं वनडे रैंकिंग में भारत के जसप्रीत बुमराह के बाद नंबर दो के पायदान पर मौजूद हैं। अफगानिस्‍तान के चार खिलाड़ी मौजूदा आईपीएल सीजन में खेल रहे हैं। अफगानिस्‍तान के बढ़ते रुतबे के बीच उसके एक खिलाड़ी पर कार्रवाई की तलवार लटक रही है। मोहम्‍मद शाहजाद ने एक साल के बैन के बाद इसी साल क्रिकेट में वापसी की है। बिना इजाजत पाकिस्‍तान में काउंटी क्रिकेट खेलने पर मोहम्‍मद शाहजाद पर सेंट्रल कांट्रेक्‍ट खाने की तलवार लटक रही है।

आईपीएल 2018: कोलकाता पहुंच पुरानी यादों में खोए गौतम गंभीर
आईपीएल 2018: कोलकाता पहुंच पुरानी यादों में खोए गौतम गंभीर

दरअसल, अफगानिस्‍तान की तरफ से खेलने वाले मोहम्‍मद शहजाद ने अपने जीतव का बड़ा समय पेशावर के रिफ्यूज कैंप में बिताया है। वो हाल ही में वो पेशावर के लोकल टूर्नामेंट में खेलते हुए दिखे। ऐसा करने से पहले उन्‍होंने अफगानिस्‍तान क्रिकेट बोर्ड की इजाजत लेना भी जरूरी नहीं समझा। एसीबी ने अब मोहम्‍मद शाहजाद को ये अल्‍टीमेटम दिया है कि वो या तो अफगानिस्‍तान वापस आ जाए नहीं तो उन्‍हें अपने सेंट्रल कांट्रेक्‍ट से हाथ धोना पड़ सकता है। एसीबी के चेयरमैन आतिफ मशाल ने ईएसपीएन क्रिक इनफो डॉट कॉम से बातचीत के दौरान कहा, “हमने अपने प्‍लेयर्स को किसी भी देश में बिना बताए जाने की इजाजत नहीं दी है। जो खिलाड़ी विदेशाें में रह रहे हैं उन्‍हें वापस परिवार के साथ अफगानिस्‍तान लौटने के लिए एक महीने का समय दिया गया है। अगर वो ऐसा नहीं करते हैं तो उनका सेंट्रल कांट्रैक्‍ट रद कर दिया जाएगा। एबीसी के नियम बेहद सख्‍त हैं, जिनका पालन करना ही होगा।”

उन्‍होंने कहा, “हमारे यहां खेलने वाले सभी खिलाड़ी अफगानिस्‍तान के ही होने चाहिए। वो एसीबी के अप्रूवल के बिना किसी विदेशी काउंटी में नहीं खेल सकते हैं।”
शाहजाद अफगानिस्‍तान के टॉप खिलाड़ियों में से एक रहे हैं। हाल ही में खत्‍म हुए वर्ल्‍ड कप क्‍वालिफायर में लाजवाब पारियों की मदद से उन्‍होंने अपनी टीम को अगले साल होने वाले वर्ल्‍ड कप में पहुंचाया है।