Ajinkya Rahane intend to carry Johannesburg mindset to England
Ajinkya Rahane © AFP (File Photo)

टीम इंडिया के दक्षिण अफ्रीका दौरे पर खेले गए तीसरे टेस्ट में जोहान्सबर्ग की उछाल भरी पिच पर अजिंक्य रहाणे ने एक संघर्षपूर्ण पारी खेली थी। पहले दो मैच हार चुकी भारतीय टीम ने जोहान्सबर्ग टेस्ट में दूसरी पारी में बल्लेबाजी करते हुए 100 के स्कोर पर चार विकेट खो दिए थे। ऐसे में रहाणे ने 48 रनों की एक शानदार पारी खेली, भारत ने 63 रनों ये मैच जीता था। रहाणे की इस पारी को उनकी सर्वश्रेष्ठ पारियों में गिना जा सकता है। अब रहाणे इसी पारी के आत्मविश्वास को इंग्लैंड दौरे पर बरकरार रखना चाहते हैं। टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए बयान में रहाणे ने कहा, “हां बिल्कुल, मेरी कोशिश उस आक्रामकता और रवैये को इंग्लैंड में बरकरार रखने की होगी।”

रहाणे ने आगे कहा, “जब आप विदेशी जमीन पर खेलते हो तो रवैया ज्यादा मायने रखता है, आपके कौशल से भी ज्यादा। कौशल के हिसाब से ज्यादातर क्रिकेटर एक जैसे ही हैं। जो चीज टीम के प्रदर्शन को ऊपर ले जाती है वो है रवैया जिसके साथ वो खेलते हैं।”

महिला एशिया कप: मलेशिया के खिलाफ जीत के साथ टीम इंडिया ने किया टूर्नामेंट का आगाज
महिला एशिया कप: मलेशिया के खिलाफ जीत के साथ टीम इंडिया ने किया टूर्नामेंट का आगाज

दक्षिण अफ्रीका दौरे पर टीम ने तीन मैचों की टेस्ट सीरीज खेली थी, जबकि भारत को इंग्लैंड दौरे पर पांच मैचों की लंबी टेस्ट सीरीज खेलनी है। रहाणे का मानना है कि पांच मैचों की सीरीज में टीम के पास वापसी का मौका रहता है। टेस्ट टीम के उप-कप्तान ने कहा, “इससे आपको प्रतियोगिता में वापसी का मौका मिलता है। दक्षिण अफ्रीका का दौरा इसका सबसे बड़ा उदाहरण हैं। वांडरर्स स्टेडियम से आगे प्रतियोगिता एकदम अलग होती लेकिन पांच मैचों की सीरीज की अलग चुनौतियां हैं। जैसे कि, पूरी सीरीज के दौरान आपको फ्रेश रहना जरूरी है। शुरुआत हमेशा ही अहम होती है लेकिन आखिर तक मूमेंटम को बरकरार रखना भी उतना ही जरूरी होता है। दिमाग को थकना नहीं होता है, यहीं सबसे जरूरी बात है।”

14 जून को बैंगलोर में अफगानिस्तान के खिलाफ ऐतिहासिक टेस्ट में भारतीय टीम की अगुवाई करने वाले रहाणे इस मैच को लेकर उत्साहित हैं। उन्होंने कहा, “मैं इसका इंतजार कर रहा हूं। आईपीएल के बाद ये एक तरह से नए सीजन की शुरुआत है इसलिए मुझे इसका इंतजार है।”