Ajinkya Rahane Says It is always an honour to lead your country
Ajinkya Rahane © PTI

अफगानिस्‍तान के खिलाफ महज दो दिन में टेस्‍ट मैच जीतकर इतिहास रचने वाली भारतीय टीम के कार्यवाहक कप्‍तान अजिंक्‍य रहाणे बेहद खुश हैं। भारत ने अफगानिस्‍तान को उसके डेब्‍यू टेस्‍ट मैच के दूसरे दिन ही पारी और 262 रन से हराकर अपनी टेस्‍ट इतिहास की सबसे बड़ी जीत दर्ज की।

डेब्‍यू टेस्‍ट के एक पारी में सबसे कम रन बनाने वाली अफगानिस्‍तान तीसरी टीम
डेब्‍यू टेस्‍ट के एक पारी में सबसे कम रन बनाने वाली अफगानिस्‍तान तीसरी टीम

बंगलौर के एम चिन्‍नास्‍वामी स्‍टेडियम में खेले गए इस टेस्‍ट मैच में भारत ने पहले बल्‍लेबाजी करते हुए अपनी पहली पारी में 474 रन बनाए। जवाब में अफगानिस्‍तान की टीम पहली पारी में 109 रन ही बना सकी जबकि उसकी दूसरी पारी 103 रन पर ढेर हो गई।

भारत को यह ऐतिहासिक जीत अजिंक्‍य रहाणे की कप्‍तानी में मिली है। टीम के नियमित कप्‍तान विराट कोहली के चोटिल होने के बाद रहाणे को इस टेस्‍ट में कप्‍तानी करने का मौका मिला था। बतौर कप्‍तान वह किसी टेस्‍ट मैच में दूसरी बार उतरे थे।

जीत के बाद रहाणे ने कहा, ‘ वास्‍तव में यह विशेष अहसास है। अपने देश का नेतृत्‍व करना हमेशा गर्व की बात होती है। जिस तरह से अपने प्रदर्शन किया खासतौर पर बल्‍लेबाजी में शिखर, विजय, राहुल और हार्दिक ने वह शानदार था। हमने अफगानिस्‍तान को हल्‍के में नहीं लिया।’

भारतीय टीम के गेंदबाजों ने भी इस मैच में शानदार प्रदर्शन किया। पहली पारी में जहां ऑफ स्पिनर अश्विन चमके वहीं दूसरी पारी में रवींद्र जडेजा ने शानदार गेंदबाजी की। बकौल रहाणे, ‘ हमारे लिए सबसे अहम अपने बेसिक्‍स को ध्‍यान में रखना था जो अच्‍छी आदत है। अफगानिस्‍तान के तेज गेंदबाजों ने वास्‍तव में अच्‍छी गेंदबाजी की। इसका श्रेय उन्‍हें मिलना चाहिए। खासतौर पर पहले दिन के खेल के तीसरे सेशन में। मुझे उम्‍मीद है कि ये टीम आगे तक जाएगी।’