Alastair Cook: Indian pace attack is sharp and full of variations
Alastair Cook © Getty Images

इंग्लैंड के सलामी बल्लेबाज और पूर्व कप्तान एलिस्टेयर कुक का मानना है कि भारत के तेज गेंदबाजी में विविधता है और वो धारदार है जैसा कि पहले नहीं हुआ करता था। कुक ने बुधवार से शुरू होने वाले पहले टेस्ट क्रिकेट मैच से पहले कहा, ‘‘भारत की गेंदबाजी में विविधता है जैसा कि आम तौर पर देखने को नहीं मिलता था। उनका तेज गेंदबाजी आक्रमण धारदार है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मैं पिछले दस सालों से भारत के खिलाफ खेल रहा हूं। उनके पास पहले पांच या छह अलग अलग तरह के तेज गेंदबाजों को खिलाने का विकल्प नहीं था। मैंने पहले जो अनुभव किया ये उससे अलग है लेकिन अगले छह सप्ताह में हम देखेंगे।’’

पहले टेस्ट में टीम इंडिया के प्लेइंग इलेवन में किसको मिलेगी जगह ?
पहले टेस्ट में टीम इंडिया के प्लेइंग इलेवन में किसको मिलेगी जगह ?

भारत के लिए शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों की खराब फार्म चिंता का विषय है लेकिन कुक ने शिखर धवन और चेतेश्वर पुजारा का समर्थन करते हुए कहा कि वे सीरीज में अच्छा प्रदर्शन करेंगे। उन्होंने कहा, ‘‘अच्छे खिलाड़ियों के लिये फार्म अस्थायी होती है। वे बहुत अच्छे खिलाड़ी हैं क्योंकि उन्होंने अतीत में निरंतर अच्छा प्रदर्शन करके ढेरों रन बनाए हैं।’’

कुक ने कहा, ‘‘इसलिए वो दुनिया की नंबर एक टीम है। आप एक या दो पारियों में असफल हो सकते हो और अचानक आप लय हासिल कर लेते हो और बड़ा स्कोर बनाते हो। यही मंझे हुए बल्लेबाजों निश्चित तौर पर शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों की प्रकृति होती है।’’ उन्होंने कहा कि वह भारत का सामना करने के लिये तरोताजा महसूस कर रहे हैं। भारत के खिलाफ एजबेस्टन में वो काफी सफल भी रहे हैं।

इस मैदान पर 2011 में 294 रन की पारी खेलने वाले कुक ने कहा, ‘‘मैं तरोताजा महसूस कर रहा हूं। मैंने पिछले तीन सप्ताह से भी अधिक समय से अधिक क्रिकेट नहीं खेली है। पिछले सप्ताह कुछ स्कोर (भारत ए के खिलाफ इंग्लैंड लायन्स की तरफ से 180 रन) करना अच्छा रहा। मैं अच्छी तरह से बल्लेबाजी कर रहा हूं। मुझे लगता है कि मैं पूरी तरह से तैयार हूं।’’

पिछले साल कप्तानी छोड़ने वाले कुक ने इस बारे में कहा, ‘‘मैंने इंग्लैंड के कप्तान के रूप में बिताए समय का पूरा लुत्फ उठाया। ये बेहद चुनौतीपूर्ण कार्य है। ये मुश्किल काम है। आपकी उन तरीकों से परीक्षा होती है जिनके बारे में आपने कभी सोचा भी नहीं होगा।’’