Ambati Rayudu suspended for two matches on breaching BCCI’s Code of Conduct
अंबाती रायडु © Getty Images

हैदराबाद के कप्तान अंबाती रायडू को 11 जनवरी 2018 को हैदराबाद और कर्नाटक के बीच सैयद मुस्ताक अली ट्रॉफी मैच के दौरान बीसीसीआई की आचार संहिता का उल्लंघन करने के आरोप में दो मैचों के लिए निलंबित कर दिया गया है। रायडू को विजय हजारे ट्रॉफी में हैदराबाद के लिए पहले दो मैचों में भाग लेने से रोक दिया गया है।

रायडू ने बोर्ड के सामने अपने अपराध को माना और बीसीसीआई की दी सजा भी स्वीकार कर ली इसलिए किसी औपचारिक सुनवाई की जरूरत नहीं थी। रायडू पर लगे आरोपों की पुष्टि फील्ड अंपायर अभिजीत देशमुख, उल्हासन विठ्ठलराव गंधे और थर्ड अंपायर अनिल दांडेकर ने की। बीसीसीआई इस अनियमित घटना में हैदराबाद टीम मैनेजर की भूमिका पर भी विचार कर रहा है।

क्या है पूरा मामला

भारत के खिलाफ पहले तीन वनडे मैचों से बाहर हुए एबी डी विलियर्स
भारत के खिलाफ पहले तीन वनडे मैचों से बाहर हुए एबी डी विलियर्स

11 जनवरी को सैयद मुश्ताक अली टूर्नामेंट के दौरान हैदराबाद और कर्नाटक के बीच खेले गए मैच के दौरान करुण नायर और कृष्प्पा गौतम की 131 रनों की साझेदारी की मदद से कर्नाटक टीम ने 205 रनों का स्कोर खड़ा किया। कर्नाटक की पारी के आखिरी ओवर में विनय कुमार ने बाउंड्री लगाई, हालांकि फील्डर ने इसे रोक लिया लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया की गेंद पकड़ते समय फील्डर ने बाउंड्री रोप को छू लिया था। विनय कुमार को ब्रेक के दौरान इस बारे में बताया गया, जिसके बाद उन्होंने अंपायरों के साथ कुल 10 मिनट तक बात की और वो दो अतिरिक्त रन कर्नाटक के स्कोर में जोड़ दिए गए। रायडु ने इसका विरोध किया और बाद में उनकी टीम केवल 2 रनों से ये मैच हार गई।