Ashish Nehra: Lifetime ban will be severe punishment for Steve Smith, David Warner
डेविड वॉर्नर, स्टीवन स्मिथ; आईपीएल 2017 © BCCI

ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेले गए न्यूलैंड्स टेस्ट में हुए गेंद से छेड़छाड़ के मामले ने पूरे क्रिकेट जगत को प्रभावित किया है। आईसीसी ने इस मामले में ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीवन स्मिथ पर एक टेस्ट मैच का बैन लगाया है। वहीं एक अंग्रेजी अखबार के मुताबिक क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की ओर से भी स्मिथ और डेविड वॉर्नर  के खिलाफ आजीवन बैन की सजा का ऐलान किया जा सकता है। इस बीच पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज आशीष नेहरा स्मिथ और वॉर्नर के समर्थन में उतरे हैं। नेहरा का मानना है कि आजीवन बैन इन दो खिलाड़ियों के लिए बहुत बड़ी सजा हो जाएगी।

रॉयल चैंलेंजर्स बैंगलोर के एक कार्यक्रम के दौरान नेहरा ने कहा, “मेरे हिसाब से आजीवन बैन काफी कड़ी सजा होगी, सिर्फ इन दोनों के लिए ही नहीं, किसी के लिए भी। आपने गलती की और मान ली, तो फिर इसके बाद आजीवन बैन ज्यादा कड़ी सजा होगी। आईसीसी को इन्हें आखिरी चेतावनी जरूर देनी चाहिए क्योंकि अगर आप किसी चीज को बार-बार करेंगे तो वह आदत बन जाएगी। ऐसा नहीं होना चाहिए। लेकिन, अभी जो उन्होंने कप्तानी छोड़ी और उन पर बैन लगा है ये ठीक है। मेरी निजी राय में इससे ज्यादा कुछ और सजा सही नहीं होगी।”

नेहरा ने आगे कहा, ‘‘अगर उन्होंने कुछ गलत किया है तो उन्हें सजा देना आईसीसी का काम है और उन्होंने पहले ही ऐसा किया है। मैं स्मिथ को श्रेय देता हूं की उन्होंने अपनी गलती को स्वीकार कर लिया है। ये कोई पहली बार नहीं है कि ऐसा हुआ है। ऐसी चीजें आप टेस्ट क्रिकेट में देखेंगे जहां लंबे सेशन होते है। पहले भी ऐसा कई बार हो चुका है।’’

राजस्थान रॉयल्स के कप्तान पद से हटे स्टीवन स्मिथ; अजिंक्य रहाणे होंगे नए कप्तान
राजस्थान रॉयल्स के कप्तान पद से हटे स्टीवन स्मिथ; अजिंक्य रहाणे होंगे नए कप्तान

बता दें कि स्मिथ ने आईपीएल टीम राजस्थान रॉयल्स के कप्तान पद से भी इस्तीफा दे दिया है। वहीं सनराजर्स हैदराबाद टीम डेविड वॉर्नर के भविष्य को लेकर चर्चा कर रही है। हालांकि पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज का मानना है कि इन दो खिलाड़ियों को खोना किसी भी आईपीएल टीम के लिए भारी नुकसान होगा। उन्होंने कहा, ‘‘दोनों ऑस्ट्रेलिया के ऐसे खिलाड़ी रहे है जिन्हें खोना किसी भी आईपीएल टीम के लिए काफी मुश्किल होगा। मेरा तो ये मानना है कि जो हो गया वो हो गया और अब हमें आगे बढ़ना चाहिए। क्रिकेट या किसी दूसरे खेल में अच्छी और बुरी चीजें होती रहती है, इन चीजों को छोड़ कर आगे बढ़ना चाहिए। उन्हें कप्तान बनाना या नहीं बनाना उनकी टीमों के ऊपर है।’’

नेहरा ने कहा, ‘‘ये अफसोसजनक होगा अगर ये दोनों खिलाड़ी आईपीएल नहीं खेल पाते हैं। उन्होंने गलती मान ली है और राष्ट्रीय टीम की कप्तानी भी छोड़ दी, उस से ज्यादा आप उनसे कुछ और उम्मीद नहीं कर सकते।’’ नेहरा का हालांकि मानना है कि किसी भी टीम को नियमों के दायरे में रहकर क्रिकेट खेलनी चाहिए और आईसीसी के नियमों को मानना चाहिए।

उन्होंने कहा, “ऑस्ट्रेलियाई हमेशा से हार्ड क्रिकेट खेलना चाहते हैं, लेकिन सीमा से आगे चले जाना अच्छी बात नहीं है। अगर आप आईसीसी की सीमाओं में रहकर कुछ करते हैं, तो चाहे वो स्लेजिंग क्यों न हो, तो चलता है। अगर आप दायरे में रहकर कर रहे हैं तो कोई परेशानी नहीं है, लेकिन सीमाओं को नहीं लांघना चाहिए।”