नजम सेठी © AFP
नजम सेठी © AFP

नवंबर में भारत में होने वाला अंडर 19 एशिया कप टूर्नामेंट अब मलेशिया में होगा। एशियन क्रिकेट काउंसिल ने पाकिस्तान क्रिकेट एसोसिएशन की मांग मान ली है। दरअसल पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने अपनी खिलाड़ियों की सुरक्षा का हवाला देते हुए कहा था कि भारत के राजनीतिक हालात पाकिस्तानी टीम के लिए सही नहीं हैं, उनके खिलाड़ियों को भारत में खतरा है जिसके बाद एशियन क्रिकेट काउंसिल ने बड़ा कदम उठाते हुए टूर्नामेंट को मलेशिया में शिफ्ट कर दिया। आपको बता दें एशिया क्रिकेट काउंसलि के चेयरमैन पाकिस्तान के शहरयार खान ही हैं जिन्होंने अभी हाल ही में पीसीबी का अध्यक्ष पद छोड़ा है।

आपको बता दें पीसीबी बीसीसीआई के खिलाफ आईसीसी में केस दायर करने की योजना भी बना रहा है। पीसीबी यह कदम दोनों देशों की क्रिकेट टीमों के बीच द्विपक्षीय श्रृंखला से जुड़े समझौता ज्ञापन (एमओयू) का बीसीसीआई द्वारा उल्लंघन नहीं करने पर ये कदम उठाने के बारे में सोच रहा है। पीसीबी ने बीसीसीआई के खिलाफ आईसीसी विवाद प्रस्ताव समिति में कानूनी लड़ाई लड़ने के लिए एक अरब रुपये अलग से रखे हुए हैं।   [भारत बनाम श्रीलंका, तीसरा टेस्ट, पहला दिन, फुल स्कोरकार्ड जानने के लिए क्लिक करें]

वैसे पीसीबी के नए चेयरमैन बनन के बाद नजम सेठी ने भारत-पाकिस्तान क्रिकेट रिश्तों पर भी बड़ा बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि वो भारत के साथ द्विपक्षीय सीरीज के लिए कोई दरवाजा बंद नहीं करने वाले हैं। नजम सेठी ने कहा था, ‘जैसी ही भारत और पाकिस्तान के बीच रिश्ते सुधरेंगे भारत सरकार बीसीसीआई को पाकिस्तान से द्विपक्षीय सीरीज खेलने की इजाजत दे देगी।’