© IANS
© IANS

एशेज सीरीज में पर्थ टेस्ट के चौथे दिन का खेल बारिश के कारण बीच- बीच में रुकता रहा लेकिन यह ऑस्ट्रेलिया को मैच में बड़ी बढ़त लेने से नहीं रोक पाई। वैसे इस बात को मानना थोड़ा कठिन है कि जो इंग्लैंड टीम दूसरे दिन 368/4 का स्कोर बना चुकी थी अब वह पारी की हार की कगार पर खड़ी है। इसके पहले, ऑस्ट्रेलिया ने तीसरे दिन के अपने स्कोर से आगे खेलना शुरू किया। मिचेल मार्श जिन्होंने अपनी जिंदगी की सबसे बेहतरीन पारी खेली वह 181 रन बनाकर आउट हो गए।

इसके कुछ ओवर बाद ही इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया के विकेटों का पतझड़ लगा दिया। स्टीवन स्मिथ 239 रन बनाकर आउट हुए और वाका के मैदान पर उनकी शानदार पारी के लिए दर्शकों ने खड़े होकर उनका अभिवादन किया। मिचेल स्टार्क भी सस्ते में चलते बने और स्कोर 561/7 हो गया।

बहरहाल, अगर आप सोच रहे हों कि ये मेजबान टीम की पारी का खात्मा है तो ये बिल्कुल भी नहीं है। टिम पेन और पैट कमिंस ने आठवें विकेट के लिए 93 रनों की साझेदारी की। ऑस्ट्रेलिया ने 662/9 के स्कोर के साथ अपनी पारी घोषित कर दी और पहली पारी के आधार पर 259 रनों की लीड हासिल की। वहीं इंग्लैंड ने अपना पहला विकेट मार्क स्टोनमैन के रूप में गंवाया। जोश हेजलवुड ने पहले ही ओवर में विकेट ले डाला। एलिस्टर कुक का सूखा जारी रहा और वह भी हेजलवुड का शिकार हुए। जब इंग्लैंड परेशानी में थी तो कप्तान जो रूट से बहुत सारी उम्मीदें थीं।

 

 

नाथन लियोन ने शानदार गेंदबाजी की और ये सुनिश्चित किया कि रूट ज्यादा देर तक न रुके रह सकें। वैसे जेम्स विंस ही एकमात्र बल्लेबाज रहे जो कुछ देर तक बल्ले से कमाल करने में कामयाब रहे। हालांकि, मिचेल स्टार्क ने उन्हें बेहतरीन गेंद पर बोल्ड कर दिया। यह गेंद इसलिए भी बेहतरीन रही क्योंकि स्टार्क की इस गेंद ने अपनी रफ्तार और लाइन के सहारे बल्लेबाज को पूरी तरह से भौंचक्का छोड़ दिया और गेंद स्टंप्स पर घुस गई। शेन वॉर्न, केविन पीटरसन ने इस गेंद को बॉल ऑफ एशेज कहा है।