Australian cricketers visits underprivileged youth in Hatcliffe Extension, Zimbabwe
Aaron Finch © Getty Image

जिम्बाब्वे दौरे पर टी20 ट्राई सीरीज खेलने गए ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर हाल ही में वहां के कुछ स्कूली बच्चों से मिले। हैटक्लिफ एक्सटेंशन में बने एक स्कूल में गरीब बच्चों को बिना किसी फीस के पढ़ाया जाता है। स्कूल के आयोजक ‘ग्रासरूट क्रिकेट’ नाम का एक चैरिटी कार्यक्रम भी आयोजित करते हैं जहां बच्चों को खेल सीखने का मौका दिया जाता है ताकि वो पढ़ानी बीच में ना छोड़े।

स्टीवन स्मिथ मौजूद समय के सबसे बेहतरीन बल्लेबाज: मोहम्मद आमिर
स्टीवन स्मिथ मौजूद समय के सबसे बेहतरीन बल्लेबाज: मोहम्मद आमिर

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के कार्यक्रम ‘क्रिकेट केयर्स’ के तहत खिलाड़ियों ने इन बच्चों के साथ समय बिताया। कोच जस्टिन लैंगर ने वहां मौजूद बच्चों की हिम्मत की तारीफ की। उन्होंने कहा, “इतने मुश्किल हालातों में ये लोग कितनी सादगी से रह रहे हैं, ये अविश्वसनीय है। लेकिन उनके चेहरे की मुस्कान और क्रिकेट के लिए उनका प्यार देखना हमारे लिए अच्छा मौका रहा। हमे यहां बिताए हर एक मिनट से प्यार है।”

ऑस्ट्रेलिया टीम के ऑलराउंडर मार्कस स्टोइनिस ने बच्चों को गेंदबाजी सिखाई और उनके साथ फुटबॉल भी खेला। स्टोइनिस ने कहा, “केवल यहां आना और इस तरह का कुछ करने का मौका मिलना। आप जब तक ऐसा नहीं करते आपको एहसास नहीं होता कि आप कितने खुशकिस्मत हैं। इससे आपको चीजों को देखने का नया नजरिया मिलता है। ये बच्चे कितने खुश हैं, सब मजा कर रहे हैं। यहां पर ज्यादा सुविधाएं नहीं हैं लेकिन सब खुश हैं।”

टीम के कप्तान एरोन फिंच और ग्लेन मैक्सवेल ने बच्चों को बल्लेबाजी को कई शॉट सिखाए। स्टोइनिस ने कहा, “मैक्सी ने बच्चों को लाइन में खड़ा कराया, उन्हें स्वीप शॉट, रिवर्स स्वीप, स्विच हिट, लैप और छक्के लगाया सिखाया। दस साल में यहां से कई महान क्रिकेटर निकलेंगे।”

मैक्सवेल ने अपने अनुभव के बारे में बात करते हुए कहा, “मुझे पता कि इन बच्चों के लिए यहां आने का क्या मतलब है, उनके लिए ये थोड़ी की खुशी पाने का जरिया है। उम्मीद है कि मैं इन बच्चों में से एक छोटे से हिस्से को भी स्कूल में बने रहने और क्रिकेट खेलने के लिए प्रेरित कर पाया।” ऑस्ट्रेलिया आज हरारे स्पोर्ट्स क्लब में जिम्बाब्वे के खिलाफ सीरीज का छठां मैच खेलेगा।