शाकिब अल हसन ने मैच में 10 विकेट झटके © Getty Images (File Photo)
शाकिब अल हसन ने मैच में 10 विकेट झटके © Getty Images (File Photo)

ढाका टेस्ट में बांग्लादेश ने ऑस्ट्रेलिया को 20 रनों से हराकर इतिहास रच दिया है। टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में बांग्लादेश की ऑस्ट्रेलिया पर यह पहली जीत है। इन दोनों टीमों के बीच अबतक खेले गए पांच टेस्ट मैचों में ऑस्ट्रेलिया ने चार और बांग्लादेश ने एक टेस्ट मैच जीता है। चौथी पारी में बांग्लादेश के द्वारा दिए गए 265 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी ऑस्ट्रेलिया टीम 70.5 ओवरों में 244 रनों पर ऑलआउट हो गई और मैच 20 रनों से हार गई।

पहली पारी की ही तरह दूसरी पारी में भी ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज शाकिब अल हसन और अन्य बांग्लादेशी गेंदबाजों के आगे असहज नजर आए। ऑस्ट्रेलिया की ओर से डेविड वॉर्नर ने 112 रनों की पारी खेली लेकिन दूसरे छोर से उन्हें पर्याप्त सहयोग नहीं मिला।

उनके अलावा स्टीवन स्मिथ ने 37, और पेट कमिंस ने नाबाद 33 रन बनाए इस तरह से एक समय 158/2 के साथ मजबूत नजर आ रही ऑस्ट्रेलिया चौथे दिन ही मैच हार गई। इनके अलावा अन्य कोई बल्लेबाज 20 से ज्यादा रन नहीं बना सका। मैच में सबसे बेहतरीन प्रदर्शन शाकिब अल हसन ने किया उन्होंने 10 विकेट लिए और पहली पारी में 84 रन बनाए। शाकिब को उनके शानदार ऑलराउंड प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया।

इससे पहले मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी बांग्लादेश टीम ने तमीम इकबाल के 71 और शाकिब अल हसन के 84 रनों की बदौलत पहली पारी में 78.5 ओवरों में 260 रन बनाए। ऑस्ट्रेलिया की ओर से पेट कमिंस, नाथन ल्योन, और एश्टन एगर ने 3-3 विकेट लिए। ग्लेन मैक्सवेल ने एक विकेट लिया। जवाब में बल्लेबाजी करने उतरी ऑस्ट्रेलिया पहली पारी में 74.5 ओवरों में 217 पर सिमट गई।

इस तरह से बांग्लादेश को पहली पारी के आधार पर 43 रनों की बढ़त मिल गई। ऑस्ट्रेलिया की ओर से मैन रेनशॉ ने सर्वाधिक 45, एश्टन एगर ने 41*, पीटर हैंड्सकॉम्ब ने 33 और पेट कमिंस ने 25 रन बनाए। इनके अलावा अन्य कोई बल्लेबाज कुछ खास नहीं कर सका। बांग्लादेश की ओर से शाकिब अल हसन ने सर्वाधिक 5, मेहेदी हसन ने 3 और ताइजुल इस्लाम ने 1 विकेट लिया। [ये भी पढ़ें: गुरुवार को 300वां वनडे मैच खेलेंगे एमएस धोनी, साथ ही 4 रिकॉर्ड्स होंगे निशाने पर]

पहली पारी की 43 रनों की बढ़त के साथ बल्लेबाजी करने उतरी बांग्लादेश टीम 79.3 ओवरों में 221/10 के साथ ऑलआउट हो गई। बांग्लादश की ओर से तमीम इकबाल ने सर्वाधिक 78, मुशिफिकुर रहीम ने 41 और मेहेदी हसन ने 26 रन बनाए। ऑस्ट्रेलिया की ओर से नाथन ल्योन ने सर्वाधिक 6, एश्टन एगर ने 2 और पेट कमिंस ने 1 विकेट लिया।

इस तरह से ऑस्ट्रेलिया को जीतने के लिए 265 रनों का लक्ष्य मिला। तीसरे दिन के अंतिम सेशन में ऑस्ट्रेलिया लक्ष्य का पीछा करने उतरी। दूसरे दिन ऑस्ट्रेलिया ने अपन स्थिति मजबूत बना ली। डेविड वॉर्नर शतक लगाने के साथ बांग्लादेशी गेंदबाजों को लगातार चुनौती दे रहे थे।

एक समय ऑस्ट्रेलिया ने 158/2 का स्कोर बना लिया था और लग रहा था कि वे मैच आसानी से जीत जाएंगे लेकिन तभी विकेट का पतझड़ लग गया। ऑस्ट्रेलिया की ओर से डेविड वॉर्नर ने 112 रनों की पारी खेली लेकिन दूसरे छोर से उन्हें पर्याप्त सहयोग नहीं मिला। उनके अलावा स्टीवन स्मिथ ने 37, और पेट कमिंस ने नाबाद 33 रन बनाए।

इनके अलावा अन्य कोई बल्लेबाज 20 से ज्यादा रन नहीं बना सका। शाकिब अल हसन ने फिर से कहर बरपाया और 5 विकेट झटके। उनके अलावा ताइजुल इस्लाम ने 3 और मेहेदी हसन ने 2 विकेट झटके और बांग्लादेश की जीत की पटकथा तैयार कर दी।