BCCI refusal leaves Pakistan’s Asia Emerging Nations Cup tournament in doubt
BCCI © Getty Images

पाकिस्‍तान की जमीन पर करीब 10 साल पहले श्रीलंका की टीम पर हुए हमले के बाद से किकेट खेलने वाले तमाम बड़े देशों ने पाकिस्‍तान का बॉयकौट किया हुआ है। जिस तरह पाकिस्‍तान की धरती का इस्‍तेमाल भारत में आतंक फैलाने के लिए किया जाता है उसे देखते हुए बीसीसीआई भी इसपर सख्‍त है। लेंबे समय से पाकिस्‍तान में कोई अंतरराष्‍ट्रीय मैच नहीं हुआ है। हालांकि भारत और पाकिस्‍तान की टीम इसके बावजूद आइसीसी के टूर्नामेंट में एक दूसरे से भिड़ती रही है, लेकिन दोनों देशों के बीच सीरीज नहीं खेली गई है। पाकिस्‍तान बार बार भारत से बात कर सीरीज आयोजित करने की मांग करता है, लेकिन बीसीसीआई ने पाकिस्‍तान से दूरी बना रखी है। मौजूदा समय में बीसीसीआई के कड़े तेवरों के कारण पाकिस्‍तान को एक और सीरीज से हाथ धोना पड़ सकता है। इस साल अपैल में पाकिस्‍तान में एशिया इमर्जिंग नेशन कप होना है, लेकिन बीसीसीआई ने साफ कर दिया है कि भारत पाकिस्‍तान में अपनी टीम नहीं भेजेगा। ऐसे में पाकिस्‍तान को इस सीरीज से ही  हाथ धोने का डर सताने लगा है।

10 साल पहले आज ही के दिन विराट कोहली की कप्‍तानी में भारत ने जीता था अंडर-19 विश्‍व कप
10 साल पहले आज ही के दिन विराट कोहली की कप्‍तानी में भारत ने जीता था अंडर-19 विश्‍व कप

अगर भारतीय टीम पाकिस्‍तान नहीं गई तो एशिया इमर्जिंग नेशन कप की मेजबानी बांग्‍लादेश और श्रीलंका में से किसी को मिल सकती है।  पाकिस्‍तान क्रिकेट बोर्ड के अध्‍यक्ष नजम  सेठी फिलहाल एशिया  क्रिकेट काउंसिल के अध्‍यक्ष भी हैं। उन्‍होंने दुबई में पत्रकारों से बातचीत के दौरान इसकी खींच निकालते हुए कहा कि इस साल भारत में होने वाले एशिया कप में  पाकिस्‍तान टीम की भागीदारी केवल  शर्तों के साथ ही संभव है। अप्रैल में कोलकाता में आईसीसी की बैठक होनी है, जिसमें नजम सेठी को भी हिस्‍सा लेना है। भारत द्वारा वीजा नहीं दिए जाने के मुद्दे पर उन्‍होंने कहा कि वीजा मिलेगा तभी वे भारत आएंगे। इसकी जिम्‍मेदारी मेरी नहीं, बल्कि आइसीसी की है। सेठी ने कहा कि एशिया इमर्जिंग नेशन कप और एशिया कप होने व नहीं होने को लेकर एशिया क्रिकेट काउंसिल की अगली बैठक में निर्णय लिया जाएगा।