BCCI SGM to debate COA decision of Pay hike to team india
Team india © AFP

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की 22 जून को होने वाली एसजीएम में टीम इंडिया के खिलाडि़यों की बढ़ी हुई सैलरी पर चर्चा होने की उम्‍मीद है। इस समय बीसीसीआई को देख रही सुप्रीम कोर्ट की ओर से गठित प्रशासकों की समिति (सीओए) की अनुमति के बगैर बोर्ड के अधिकारियों ने एसजीएम बुलाने का फैसला लिया है।

युवराज सिंह ने की भविष्‍यवाणी, ये टीम जीतेगी फुटबॉल विश्‍व कप
युवराज सिंह ने की भविष्‍यवाणी, ये टीम जीतेगी फुटबॉल विश्‍व कप

समाचार पत्र इंडियन एक्‍सप्रेस की खबर के अनुसार, बोर्ड अधिकारी 22 जून को होने वाली बीसीसीआई की एसजीएम में भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाडि़यों की सैलरी को बढ़ाने के मामले पर बहस जरूर करेंगे।

गौरतलब है कि सीओए ने कुछ समय पहले भारतीय क्रिकेटरों के अनुबंध में बदलाव कर उसे तीन से चार कैटेगरी में बांट दिया था।

ए प्लस कैटेगरी वाले पांच खिलाड़ियों को 7 करोड़ रुपए, ए कैटेगरी वाले सात खिलाड़ियों को पांच करोड़ रुपए, बी कैटेगरी वाले 7 खिलाड़ियों को  3 करोड़ रुपए और सी कैटेगरी वाले कई खिलाड़ियों को एक करोड़ रुपए सालाना देने का प्रस्ताव है।

बीसीसीआई के अधिकारियो को लगता है कि खिलड़ियो की फीस में यह यह बढ़ोतरी ज्‍यादा है। इस लिहाज से इस पर बहस होनी चाहिए।

बोर्ड की एंटी करप्शन यूनिट के हेड अजित सिंह की नियुक्ति पर भी बीसीसीआई के अध्‍ािकारी सवाल उठा सकते हैं। अजीत सिंह को हाल में सीओए ने नीरज कुमार की जगह एसीयू का नया चीफ नियुक्त किया है लेकिन बोर्ड के अधिकारी इस फैसले से सहमत नहीं दिख रहे हैं।

नए अनुबंध के मुताबिक, शिखर धवन को अब सालाना 7 करोड़ रुपये मिलेंगे, जबकि 2016 के अनुबंध के मुताबिक, उन्हें 50 लाख रुपये मिलते थे।  नए अनुबंध में धवन का वेतन 14 गुना हो गया है। वहीं विराट कोहली को नए अनुबंध में 250 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है, और उनका वेतन पहले मिलने वाले दो करोड़ की तुलना में साढ़े तीन गुना होकर सात करोड़ रुपये हो गया है। रोहित शर्मा की सैलरी में नए अनुबंध के तहत 600 प्रतिशत का इजाफा हुआ है।