BCCI to bear all expenses of North Eastern states Ranji Trophy debut
BCCI

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) पूर्वोत्तर राज्यों के रणजी ट्रॉफी में डेब्‍यू का सारा खर्च उठाएगा जिनमें से दो टीमें आधारभूत ढांचा नहीं होने के कारण अपने मैच तटस्थ स्थानों पर खेलेंगी।

पुजारा को बर्मिंघम टेस्‍ट में नहीं मिली जगह, फैंस का फूटा गुस्‍सा
पुजारा को बर्मिंघम टेस्‍ट में नहीं मिली जगह, फैंस का फूटा गुस्‍सा

विश्वस्त सूत्रों से पता चला है कि सिक्किम और अरूणाचल प्रदेश के पास ऐसे मैदान नहीं हैं जो प्रथम श्रेणी क्रिकेट के मानदंडों को पूरा कर सकें और वे पड़ोसी राज्यों के तटस्थ स्थलों पर खेलेंगे।

बीसीसीआई सभी छह राज्यों को एनसीए के मान्यता प्राप्त कोच, फिजियो और ट्रेनर उपलब्ध कराएगा।

आम तौर पर बीसीसीआई इकाईयां अपने सहयोगी स्टाफ का खर्चा उठाती हैं लेकिन पूर्वोत्तर के राज्यों के मामले में बोर्ड का फैसला अपवाद है।

पूर्वोत्तर राज्यों के एक प्रतिनिधि ने गोपनीयता की शर्त पर कहा, ‘ बीसीसीआई ने सभी राज्य टीमों को कोच मुहैया कराने का आश्वासन दिया है। हम अपनी जरूरतों से उन्हें अवगत कराएंगे और उसी अनुसार वे हमें सहयोगी स्टाफ मुहैया कराएंगे। इसका पूरा खर्च बोर्ड उठाएगा।’

गौरतलब है कि बीसीसीआई ने इस बार रणजी ट्रॉफी में नौ नई टीमों को शामिल किया है।  इस बार रणजी ट्रॉफी 2018-19 में 9 नई टीमें डेब्‍यू करेंगी। इन 9 नई टीमों में अरुणाचल प्रदेश, बिहार, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, पुडुचेरी, सिक्किम और उत्तराखंड हैं।