Criticism against Stuart Broad was very unjustified, very unfair and unnecessary, says Sir Ian Botham
James Anderson and Stuart Broad © Getty Images

इंग्लैंड टीम ने पाकिस्तान के खिलाफ लीड्स टेस्ट में जीत हासिल कर दो मैचों की सीरीज 1-1 से ड्रॉ कराई है। हालांकि सीरीज की शुरुआत इंग्लैंड टीम के लिए उतनी अच्छी नहीं रही थी। लॉर्ड्स में खेला गया पहला टेस्ट इंग्लैंड टीम हार गई थी, जिसके बाद उन्हें हर तरफ से आलोचना का सामना करना पड़ा। टीम के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने तेज गेंदबाज स्टुअर्ट बॉड और जेम्स एंडरसन को दूसरे टेस्ट से बाहर करने की बात कह दी थी। हालांकि दूसरे टेस्ट में शानदार प्रदर्शन कर दोनों सीनियर गेंदबाजों ने वॉन को गलत साबित किया। वहीं पूर्व क्रिकेटर इयान बॉथम भी उनके समर्थन में उतर आए हैं।

बॉल टेंपरिंग विवाद के बाद चार दिन तक रोए थे स्टीवन स्मिथ
बॉल टेंपरिंग विवाद के बाद चार दिन तक रोए थे स्टीवन स्मिथ

स्काई स्पोर्ट्स को दिए बयान में बॉथम ने ब्रॉड के बारे में बात करते हुए कहा, “मुझे समझ नहीं आता है कि लॉर्ड्स के बाद उसकी इतनी आलोचना क्यों हुई। मुझे लगता है कि वो इंग्लैंड टीम का सबसे अच्छा गेंदबाज था। क्यों कुछ लोगों ने उसके बारे में ऐसा लिखा गया, मुझे नहीं पता। हेडिंग्ले में भी उसने पहले दिन सबसे अच्छी गेंदबाजी की। उसकी गति वापस आ गई थी, उसका हाथ भी गेंद के पीछे था और लेंथ भी सही थी।”

बॉथम ने साफ कहा कि ब्रॉड की आलोचना पूरी तरह से अन्यायपूर्ण, बहुत गलत और जरूरी नहीं थी। बॉथम ने कहा, “वो अच्छा लग रहा था, ऐसा लग रहा था जैसे वो कुछ साल पीछे चला गया हो। मुझे लगता है कि वो अभी इंग्लैंड क्रिकेट को बहुत कुछ दे सकता है।”

बॉथम ने वॉन की टिप्पणी पर जवाब देते हुए कहा, “ये सही है कि आप कहो कि उसे टीम से निकाल दिया जाय, बाहर कर दिया लेकिन आप उसकी जगह लाओगे किसे? अगर मैं कुछ भूल नहीं रहा हूं तो उसकी जगह लेने के लिए ज्यादा लोग काउंटी क्रिकेट से आगे नहीं आ रहे हैं।”