David Warner asks Australian players to get some hatred for England ahead of The Ashes 2017-18
डेविड वॉर्नर © Getty Images

एशेज सीरीज शुरू होने से पहले ही इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया टीमों के बीच जबानी जंग शुरू हो गई है। कंगारू टीम के सीनियर बल्लेबाज और उप-कप्तान डेविड वॉर्नर ने हाल ही में बयान दिया है ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को अपने मन में इंग्लैंड टीम के खिलाफ नफरत पैदा करनी होगी। वॉर्नर का मानना है कि ये सीरीज एक जंग है और नफरत के जरिए ही विपक्षी टीम को हराया जा सकता है। वॉर्नर ने एबीसी से बातचीत में कहा, “फिलहाल मैं किसी तरह की जबानी जंग की शुरुआत नहीं करूंगा लेकिन जब हम मैदान में उतरेंगे तो जरूर झड़प होगी।”

वॉर्नर ने आगे कहा, “जैसे ही आप मैदान पर उतरते हो ये जंग शुरू हो जाती है। आप जल्द से जल्द लड़ाई में जीतने की कोशिश करते हो। मैं अपने विपक्षी की आँख में देखकर ये ढूंढने की कोशिश करूंगा कि किस तरह मैं उसे नापसंद कर सकता हूं और उसे हरा सकता हूं। विपक्षी खिलाड़ी को हराने के लिए आपको अपने अंदर वो चिंगारी ढूंढनी होती है। जब आप मैदान पर होंगे तो आपको अपने मन में झांककर उनके लिए नफरत ढूंढनी होगी। इतिहास इसका एक बहुत बड़ा हिस्सा है और मैदान पर वह नजर आएगा।” [ये भी पढ़ें: आईसीसी को पाकिस्तान की धमकी, भारत ने नहीं खेली सीरीज तो करेंगे वनडे-टेस्ट लीग का बहिष्कार!]

हाल ही में भारत दौरे से लौटे वॉर्नर का मानना है कि इंग्लैंड के खिलाफ जीत के लिए ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाजों का फिट होना जरूरी है। इस बारे में उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि हमे देखना चाहिए कि माइकल क्लॉर्क ने 2013-14 की एशेज सीरीज में मिशेल जॉनसन को किस तरह इस्तेमाल किया था। उसने जिस तरह का प्रदर्शन किया, उसे पता था कि टीम में उसकी क्या भूमिका है और उसे क्या करना है। एक टीम के तौर पर हमें यही करना है।” [ये भी पढ़ें: उस्मान ख्वाजा ने ऑस्ट्रेलिया टीम की चयन प्रक्रिया पर उठाए सवाल]

फिलहाल ऑस्ट्रेलिया टीम के सबसे सफल तेज गेंदबाज मिशेल स्टार्क हैं। इस बारे में बात करते हुए वॉर्नर ने कहा, “क्या स्टार्की ये काम कर सकता है? क्या हॉफ (जॉश हेजलवुड) दूसरे छोर पर लाइन-लेंथ और स्विंग के साथ वही करेगा जो वो हमेशा करता आया है या फिर स्टार्की उनके अगले पैर पर वार करेगा? बतौर टीम हम किस तरह का खेल खेलेंगे इस पर हमें चर्चा करनी होगी।” एशेज सीरीज का आगाज 23 नवंबर को होने जा रहा है।